शिवा परियोजना के तहत 1 हजार 1 फलदार पौधे किए गए रोपित  – सुभाष ठाकुर 25 लाख रुपये की लागत से होगा उप स्वास्थ्य केन्द्र कसोल का निर्माण

बिलासपुर 29 जुलाई:- हिमाचल प्रदेश शिवा परियोजना के अंतर्गत ग्राम पंचायत मोरसिंघी के गांव कसोल, ग्राम पंचायत तलवाड़ा के गांव छड़ल में अग्रिम पंक्ति प्रदर्शन स्थल पर विधायक सुभाष ठाकुर द्वारा मौसमी का पौधा रोपित तथा सतरे का पौधा रोपित किया।
उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश शिवा परियोजना के तहत जिला बिलासपुर में अग्रिम पंक्ति प्रदर्शन स्थल में 1 हैक्टेयर भूमि पर कुल 1 हजार 1 फलदार पौधे रोपित किए जा रहे है। उन्होंने बताया कि हिमाचल प्रदेश शिवा परियोजना के तहत लगभग 250 कनाल भूमि पर 22 हजार फलदार पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है। इस परियोजना के तहत 55 कलस्टरों का चयन किया गया है तथा एक कलस्टर में 1 से 1.5 करोड़ रुपये का खर्च किया जा रहा है।
परियोजना के तहत 1100 से 1200 किसान परिवार होंगे लाभान्वित
सुभाष ठाकुर ने किसानों को जीरो बजट की खेती अपनाने का आहवान किया और रसायनिक खादों और दवाईयों से परहेज करते हुए वैज्ञानिक तरीके से खेती करने का भी आग्रह किया। उन्होंने युवाओं को नगदी फसलों तथा बागवानी के लिए प्रेरित किया ताकि युवा स्वरोजगार की दिशा में आगे बढ़ते हुए आत्मनिर्भर बन सके। यह परियोजना जिला के चार विधानसभा क्षेत्रों में चलाई जा रही है जिसके अंतर्गत लगभग 600 हैक्टेयर क्षेत्रफल में लाया जाएगा व लगभग 1100 से 1200 किसान परिवार इस परियोजना के तहत लाभान्वित होंगे। इस परियोजना का मुख्य उद्देश्य किसानों की आय को दौगुना करना है। उन्होंने कहा कि शिवा परियोजना में किसानों को पौध रोपण के अतिरिक्त जंगली जानवरों और बंदरों से बगीचों की रक्षा करने के लिए विभाग द्वारा कोम्पोजिट फेंसिंग की जा रही है।
कलस्टरों के लिए जल शक्ति विभाग द्वारा की जाएगी सिंचाई व्यवस्था
उन्होंने बताया कि इस परियोजना के अंतर्गत जल शक्ति विभाग की ओर से कलस्टरों की सिंचाई सुविधा की व्यवस्था की जाएगी तथा टपक सिंचाई प्रणाली के माध्यम से रोपित पौधों की पानी की आपूर्ति पूरी की जाएगी।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के कुशल नेतृत्व में प्रदेश में चहुमुखी विकास हो रहा है जिस कारण प्रदेश आज देश में अन्य राज्यों में अग्रणी राज्य बनकर उभरा है।
उप स्वास्थ्य केन्द्र कसोल के भवन का किया गया भूमि पूजन
इस अवसर पर विधायक ने उप स्वास्थ्य केन्द्र कसोल के भवन का भूमि पूजन किया। उन्होंने बताया कि उप स्वास्थ्य केन्द्र कसोल में प्रशासनिक मंजूरी 23 मई, 2011 को दी गई है और एफ.आर.ए की मंजूरी 23 अगस्त, 2019 को मिली है तथा सरकार द्वारा भवन के निर्माण के लिए 25 लाख रुपये का बजट प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान कर रही है। विधानसभा क्षेत्र के लगभग सभी स्वास्थ्य संस्थानों में डाॅक्टर उपलब्ध है तथा लोगों को घर-द्वारा पर बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिल रही है।
विधानसभा क्षेत्र में हर गांव को मुख्य सड़क मार्गों से जोड़ना प्राथमिकता
उन्होंने कहा कि विधानसभा क्षेत्र में हर गांव को मुख्य सड़क मार्गों से जोड़ने के लिए 200 करोड़ रुपये व्यय किए जा रहे ताकि आमजन किसी भी कठिनाई का सामना न करना पड़े। उन्होंने विधान सभा क्षेत्र में सड़को के विस्तार, सम्बर्द्धन, रखरखाव और नई सड़कों के निर्माण बारे में जानकारी देते हुए बताया कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत पट्टा से मोरसिंघी सड़क 11.5 करोड़ रुपये व्यय करके बनाई जा रही है। लुहणू छपरोड सड़क का 5.2 करोड़ रुपये का टैंड किया जा चुका है तथा इसका शीघ्र कार्य प्रारम्भ कर दिया जाएगा।
सभी पंचायतों को सुचारू पेयजल के लिए किए जा रहे निरंतर प्रयास
उन्होंने कहा कि विधानसभा क्षेत्र की सभी पंचायतों को सुचारू पेयजल मिले इसके लिए निरंतर प्रयास किए जा रहे है। उन्होंने बताया कि जल शक्ति विभाग के द्वारा 20 करोड़ रुपये व्यय कर पेयजल स्कीम मल्यावर से बनाई जा रही है जो 16 पंचायतों को पेयजल की स्कीमों के लिए फीडर का कार्य करेंगी। जल जीवन मिशन के तहत सभीघरों में पाइप जलापूर्ति (हर घर जल) सुनिश्चित की जा रही है। जल जीवन मिशन की प्राथमिकता जिला के सभी भागों में पेयजल उपलब्ध कराना है।
कम वोल्टेज की समस्या को किया जाएगा दूर
उन्होंने बताया कि विधानसभा क्षेत्र में कम वोल्टेज की समस्या के समाधान के लिए 28 ट्रांसफार्मर पिछले साल स्थापित किए जा चुके है तथा इस साल 32 ट्रांसफार्मर लगाए जा रहे है। उन्होंने बताया कि विधानसभा क्षेत्र के पुराने लकड़ी के पोलों बदला जा रहे है जिसपर 2.5 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे है।
उन्होंने छाडल गांव के काम देवता मंदिर में बिजली लगाने बिजली ट्रांसफार्मर की क्षमता बढ़ाने के लिए विद्युत विभाग को निर्देश दिए। उन्होंने छाडल गांव के समीप मुख्य सड़क पर वर्षा शालिका बनाने के लिए लोक निर्माण विभाग को कहा। इसके अतिरिक्त उन्होंने महिला मण्डल छाडल की रिपेयर के लिए भी धन उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया।
कार्यक्रम में यह रहे उपस्थित
इस अवसर पर जिला महामंत्री आशीश ढिल्लों, युवा मोर्चा अध्यक्ष विनोद ठाकुर, बूथ अध्यक्ष भगवन्त सिंह, स्थानीय ग्राम पंचायत के प्रधान कैप्टन अमर सिंह, मण्डल अध्यक्ष उर्मिल कौशल, जिला परिषद सदस्य विमला देवी, कुठेडा पंचायत प्रधान ज्यादि प्रकाश धीमान, उप प्रधान मैहरी काथला देश राज चंदेल, उप प्रधान ग्राम पंचायत कुठेडा राकेश ठाकुर, पूर्व प्रधान मीना वशिष्ठ, एसडीएम घुमारवीं राजीव ठाकुर, उप निदेशक डाॅ. माला शर्मा, बीएमओ डाॅ. अभिनीत शर्मा उपस्थित रहे।