प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र ऋषिकेश में मनाया गया डेंगू दिवस

बिलासपुर 24 मई –

प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र ऋषिकेश में कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए डेंगू दिवस मनाया गया। इस अवसर पर स्वास्थ्य शिक्षक दीप कुमार ने लोगों को डेंगू की रोकथाम “घर से ही शुरू करों विषय” पर जानकारी दी।


उन्होंने बताया कि डेंगू गर्मी और बरसात में मच्छर काटने से होने वाला वायरस रोग है। भारत में हर साल एक लाख के करीब मामलें दर्ज होते है। जब डेंगू मच्छर किसी व्यक्ति को काट लेता है तो उस व्यक्ति में तीन दिन से 7 दिन में लक्षण आने शुरू हो जाते है जैसे तेज बुखार, सिरदर्द, शरीर में लाल धब्बें होने मासपेशियों और जोड़ों में दर्द होना अनिवार्य।
उन्होंने बताया कि डेंगू मच्छर साफ पानी में पैदा होता है। इसलिए लोगों को घर के अंदर रखें कुल्लर, फ्रीज व अन्य वर्तन जिसमें पानी अधिक समय तक रखते है और बार-बार बदल लेना चहिए ताकि डेंगू का लारवा उसमें जन्म न लें, अपने आस-पास किसी प्रकार का पानी जमा न होने दें। डेंगू मच्छरों को खत्म करने के लिए मिट्टी तेल का छिडकाव व अन्य स्प्रे घर के आस-पास करें। डेंगू मच्छर साफ पानी में ही पैदा होता है। इसलिए घर पर प्रयोग किया जाने वाला पानी बदलें रहे ताकि इस प्रकार के मच्छर पैदा न हो और अपने घर व गांव के लिए ऐसी बीमारियों से बचे रहे। डेंगू मच्छर सुबह के समय अधिक काटता है।