प्रदेश सरकार स्वस्थ हिमाचल के सपने को मूर्त रूप देने में रही सफलः डॉ. राजीव सैजल

   

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा आयुष मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने आज धर्मपुर क्षेत्र के लोगों के लिए 3.51 करोड़ रुपये से अधिक की विभिन्न विकासात्मक परियोजनाओं के लोकापर्ण व शिलान्यास किए। स्वास्थ्य मंत्री ने धर्मपुर में 1.15 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित बायो सेफटी लैब, 1.20 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित राज्य टीबी ड्रग स्टोर, लगभग 26 लाख रुपये की लागत से निर्मित उप मण्डी धर्मपुर के विस्तारीकरण तथा जल शक्ति मंडल का उदघाटन किया। उन्होंने 90 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले सहायक अभियंता (यांत्रिक) के कार्यालय एवं आवास का शिलान्यास भी रखा। इसके उपरांत जनसभा को संबोधित करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राज्य क्षय रोग दवा भंडारण बनने से हिमाचल प्रदेश में क्षय रोग रोकथाम में सहायता मिलेगी तथा प्रधान मंत्री द्वारा 2025 तक क्षय रोग मुक्त भारत का लक्ष्य को प्राप्त करने में सहायक सिद्ध होगी। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग भारत सरकार के क्षय रोग मुक्त भारत बनाने के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए उत्कृष्ट प्रयास कर रहा है और इन्ही प्रयासों से हिमाचल प्रदेश, देश का पहला क्षय रोग मुक्त राज्य बनने वाला है। हिमाचल सरकार स्वास्थ्य क्षेत्र को सुदृढ़ करने तथा लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने के उद्देश्य से हाल ही में आयोजित मंत्रिमण्डल की बैठक में 300 अतिरिक्त चिकित्सा अधिकारियों के पद स्वीकृत किए है जोकि शीघ्र भरे जायेंगे।

    

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा स्वस्थ हिमाचल का सपना जो देखा गया था, उसे मूर्त रूप देने में सरकार सफल रही है। उन्होंने कहा कि हिमाचल सरकार की स्वास्थ्य योजनाएं, प्रदेश के जरूरतमंदों का सहारा बनी है। स्वास्थ्य सुविधाओं को गुणात्मक एवं सर्वसुलभ बनाने के लिए प्रदेश सरकार ने अनेक योजनाएं आरम्भ की है। राज्य सरकार द्वारा गत साढ़े चार वर्षों में स्वास्थ्य अधोसंरचना को सुदृढ़ करने पर विशेष बल दिया गया। स्वास्थ्य अधोसंरचना के सुदृढ़िकरण से प्रदेश के लोगों को उत्कृष्ट उपचार सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है।
डॉ. राजीव सैजल ने कहा कि हिमाचल में ही विश्व स्तरीय सुविधा उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से हाल ही में मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर द्वारा शिमला के चमयाना में प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत 262 करोड़ रुपये की लागत से अटल अति विशिष्ट चिकित्सा संस्थान का उद्घाटन किया गया। स्वास्थ्य सुविधाओं को और अधिक सुदृढ़ करने के लिए 42 करोड़ रुपये की लागत से एडवांस डायग्नोस्टिक सेंटर का शिलान्यास भी किया गया। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य अधोसंरचना के सुधार व विकास के लिए किए गए प्रयासों का ही परिणाम है कि राज्य को स्वास्थ्य क्षेत्र में अर्जित उपलब्धियों के लिए राष्ट्रीय स्तर पर सम्मान भी प्राप्त हुए है।

    

उन्होंने कहा कि राज्य की अधिकांश आबादी ग्रामीण क्षेत्रों में रहती है इन क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं के व्यापक विस्तार के लिए प्रदेश सरकार ने अनेक कदम उठाए है। प्रदेश सरकार की हिमकेयर तथा सहारा जैसे अभिनव योजनाएं, जरूरतमंदो को बेहतर चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करवाने में वरदान साबित हो रही है। गम्भीर बीमारियों से पीड़ित व्यक्तियों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री चिकित्सा सहायता कोष गठित किया गया है। इलाज के लिए प्रदेश के सभी सरकारी अस्पताल, पी.जी.आई चण्डीगढ़, सरकारी अस्पताल सेक्टर-32, चण्डीगढ़, एम्स दिल्ली तथा प्रदेश सरकार द्वारा आयुष्मान भारत के अंतर्गत पंजीकृत सभी अस्पताल प्राधिकृत किए गए है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश में सभी सरकारी अस्पतालों में ग्रामीण स्तर तक लोगों को निःशुल्क दवाइयां उपलब्ध करवाई जा रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं को प्राथमिकता दी जा रही है। महिलाओं के लिए अटल आशीर्वाद योजना आरम्भ की गई है, जिसके तहत अस्पताल में जन्मे नवजात शिशुओं व उनकी माताओं को ‘नव आगंतुक किट’ उपलब्ध करवाई जाती है। योजना के अंतर्गत जच्चा व बच्चा उपयोगी सामग्री की लगभग 1500 रूपये मूल्य की किट उपलब्ध करवाई जा रही है। महिलाओं के लिए जननी शिशु सुरक्षा योजना के अंतर्गत निःशुल्क दवाइयां व अन्य सुविधाएं भी प्रदान की जा रही है।

    

डॉ. सैजल ने लोगों से प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न जन कल्याण योजनाओं का लाभ उठाने का आग्रह भी किया। इसके उपरांत, स्वास्थ्य मंत्री ने धर्मपुर में किसानों के लिए आयोजित जनसभा को भी सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि किसान प्रदेश की आर्थिकी की रीड़ की हड्डी है और राज्य की 90 प्रतिशत आर्थिकी किसानों पर निर्भर है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों के हितों को सुरक्षित रखने के लिए तत्पर है और किसानों के लिए अनेक योजनाएं भी चलाई जा रही है। इस अवसर पर महिला आयोग की अध्यक्षा डेज़ी ठाकुर, हिमाचल प्रदेश विपणन बोर्ड के अध्यक्ष बलदेव भण्डारी, कृषि उपज विपणन समिति सोलन के अध्यक्ष संजीव कश्यप, किसान मोर्चा कसौली मण्डल के अध्यक्ष डुरेश ठाकुर, भाजपा मण्डलाध्यक्ष कपूर सिंह वर्मा सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।