छंजयार में बने तालाब के जीर्णोद्वार कार्य पर होंगे लगभग 13 लाख खर्च- राजेन्द्र गर्ग

खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री राजिन्द्र गर्ग ने सोमवार को घुमारवीं विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत कसारू के गांव छंजयार में सदियों पुराने निर्मित तालाब (जल संग्रहण केन्द्र) के जीर्णोद्वार के कार्य का निरीक्षण किया। गर्ग ने कहा कि छंजयार में निर्मित इस पुराने तालाब का जीर्णोद्वार वन विभाग के माध्यम से चलाई जा रही जल भण्डारण कार्यक्रम योजना के तहत किया जा रहा है। जिससे तालाब का बजूद भी बना रहेगा और जल संरक्षण के साथ-साथ जमीन के जल स्तर को भी बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने बताया कि शीघ्र ही इस तालाब के जीर्णोद्वार का कार्य पूरा कर लिया जाएगा।  
उन्होंने बताया कि छंजयार में बने तालाब के जीर्णोद्वार कार्य पर लगभग 13 लाख रूपये खर्च किए जा रहे हैं। तालाब के ईद-गिर्द फेंसिंग भी की जाएगी तथा पर्यावरण संरक्षण के लिए पौधा रोपण भी किया जाएगा। तालाब के जीर्णोद्वार से जल संरक्षण और पर्यावरण को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि जंगलों में तालाबों के माध्यम के जीर्णोद्वार से वन्य-प्रणियों को अपनी प्यास बुझाने के लिए इधर-उधर नहीं भटकना पड़ेगा। उन्हें इन तालाबों में ही स्वच्छ और शुद्ध जल मिल सकेगा। उन्होंने ग्राम निवासियों से आहवान किया कि वन विभाग के चलाए जाने वाले पौधा रोपण अभियान में भी बढ़-चढ़ कर भाग लें ताकि पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा मिल सके। गर्ग ने बताया कि सदियों पुराने इन तालाबों के मुरम्मत का कार्य पौराणिक शैली के अनुसार ही किया जाएगा ताकि तालाबों में बर्षा की एक-एक बूंद को सहेज कर भू-गर्भ जल स्तर रिचार्ज को बढ़ावा दिया जा सके।
बॉक्स लोगों की मांग पर खाद्य आपूर्ति मंत्री गर्ग ने वन विभाग को दिए थे आदेश छंजयार के पुराने तालाब के जीर्णोद्वार करने की मांग लोगों ने खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री राजिन्द्र गर्ग के समक्ष रखी थी। जिसके बाद खाद्य आपूर्ति मंत्री ने वन विभाग के अधिकारियों व स्थानीय लोगों के साथ मौके पर जाकर निरीक्षण किया था। उस समय मौके पर मौजूद वन विभाग के अधिकारियों को खाद्य आपूर्ति मंत्री ने पुराने तालाबों के जीर्णोद्वार के निर्देश दिए थे। जिसके बाद पुराने तालाबों का जीर्णोद्वार का कार्य शुरू हो गया है।
बॉक्स छंदोह में तालाब का जीर्णोद्वार, दधोल में डब्ल्यूएचएस का निर्माण खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री राजेंद्र गर्ग ने बताया कि छंजयार के अलावा दधोल पंचायत के गांव छंदोह में भी एक पुराने तालाब का जीर्णोद्वार किया जा रहा है। तथा दधोल के बेई नाला पर वाटर हार्वेस्टिंग स्ट्रक्चर ( डब्ल्यूएचएस ) का निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि छंदोह के पुराने तालाब के जीर्णोद्वार पर लगभग 13 लाख रूपये तथा वाटर हार्वेस्टिंग स्ट्रक्चर पर करीब 20 लाख रूपये खर्च हो रहे हैं। इससे जल संरक्षण के साथ-साथ जमीन के जल स्तर को भी बढ़ावा मिलेगा।