होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना पाॅजिटिव रोगियों के साथ सीएमओ डाॅ. प्रकाश दरोच ने गूगल मीट के जरिज ऑनलाइन कांउसलिंग की

बिलासपुर 28 मई – सचिव जिला रेड क्रॉस सोसाइटी अमित कुमार ने बताया कि कोविड-19 की दूसरी लहर में विभिन्न तरह की गतिविधियां चलाई जा रही है ताकि इस भयंकर महामारी में अधिक से अधिक लोगों का जीवन बचाया जा सके। उन्होंने बताया कि कोरोना काल में सबसे महत्वपूर्ण है होम आइसोलेशन में रह रहे कोविड पॉजिटिव रोगियों की काउंसिलिंग कर उसके मानसिक तनाव को कम करना।


उन्होंने बताया कि कोविड-19 की दूसरी लहर में जिला रेड क्राॅस सोसाइटी बिलासपुर के साथ मानवता के सहयोगार्थ 194 स्वयंसेवियों ने स्वयं को पंजीकृत करवाया है जिसमें से 76 स्वयंसेवी काउंसलिंग कर रहे है। उन्होंने बताया कि स्वयंसेवियों के द्वारा अभी तक 2231 कोविड पॉजिटिव रोगियों से उनकी स्थिति की जानकारी ले कर के उनकी समस्याओं का समाधान कर चुके हैं।
उन्होंने बताया कि काउंसलिंग में रोगियों के स्वास्थय के बारे में जानकारी ली जाती है जैसे की उनका ऑक्सीजन लेवल, उनकी दवाइयों की जानकारी, उनके घर में अलग टॉयलेट इसके बारे में पूछा जाता है साथ ही उनके भोजन की व्यवस्था के बारे में जानकारी ली जाती है।
उन्होंने बताया कि कई बार अगर पूरा परिवार पॉजिटिव हो जाता है तो उस परिवार को भोजन, पानी संबंधी समस्या हो तो उसके लिए रेड क्राॅस सोसायटी द्वारा उचित व्यवस्था की जाती है। उन्होंने बताया कि काउंसलिंग के जरिए रोगियों की मनोस्थिति को समझ कर उनको अच्छे सुझाव देना उनके भविष्य के बारे में जानना आदि शामिल है। ये सारी जानकारियों गूगल फॉर्म के माध्यम से एक जगह तकनीकी दल के पास आती है और यदि कोई कोविड पॉजिटिव होमआईसोलेटेड रोगी गम्भीर पाए जाने की जानकारी मिलती है तो परिस्थिति के अनुसार उसको कोविड केयर सेन्टर या हॉस्पिटल शिफ्ट किया जाता है।
उन्होंने बताया कि वालंटियर की क्षमता वर्धन के लिए सायं 7 से 8 बजे तक किसी एक विषय पर विशेष विशेषज्ञ को बुलाया जाता है। उन्होंने बताया कि इसी कड़ी में शुक्रवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी बिलासपुर प्रकाश दरोच ने रेड क्रॉस स्वयंसेवियों के साथ गूगल मीट पर  ऑनलाइन चर्चा की। जिसमे उन्होंने रेड क्रॉस स्वयंसेवियों द्वारा किए जा रहे कार्यों की खूब सराहना की इसके साथ ही रेड क्रॉस बिलासपुर द्वारा समुदाय स्तर  पर कोविड  टेस्टिंग करने की पहल के लिए मुख्य चितिकत्सा अधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग की ओर से हर संभव सहायता देने का पूर्ण आश्वासन दिया।
इस चर्चा में अवनीश, सत्येन नरोतम, हेम ठाकुर, मनोज चंदेल, शिप्रा गौतम, आकांक्षा, आदि स्वयसेवी शामिल रहे।