स्वास्थ्य विभाग ने धारों की धार से किया सभी के लिए कोविड-19 परीक्षण कार्य का शुभारम्भ

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा कोविड-19 की सम्भावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारी के क्रम में जिला सोलन में कोविड-19 सैम्पलिंग के कार्य को गति प्रदान की जा रही है। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी सोलन डाॅ. राजन उप्पल ने आज यहां दी।
डाॅ. उप्पल ने कहा कि इस तैयारी के दृष्टिगत स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा जिला के विभिन्न होटलों, शिक्षण संस्थानों, औद्योगिक स्थानों में कोविड-19 के लिए जांच करवाने के लिए आग्रह किया गया है।
उन्होंने कहा कि अभियान की शुरूआत आज विकास खण्ड सोलन की ग्राम पंचायत शमरोड़ के पर्यटक स्थल धारों की धार से की गई। धारों की धार स्थित निजी होटल हेवन रिट्रीट में आज अभियान के तहत 40 व्यक्तियों का कोविड-19 जांच के लिए रेपिड एंटीजन टेस्ट (आरएटी) किया गया। इन सभी लोगों की कोविड-19 रिपोर्ट नेगेटिव पाई गई। यह परीक्षण विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी डाॅ. अजय सिंह की देखरेख में किए गए। इस अवसर पर डाॅ. अजय सिंह ने स्टाफ नर्स भानू, सोनिया, नेहा और महिमा के साथ होटल हेवन रिट्रीट, होटल शेरपा तथा होटल सिलवान के कर्मचारियों का परीक्षण किया।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि कोविड-19 जांच के लिए विभिन्न विद्यालय, महाविद्यालय, निजी संस्थान, होटल जैसे व्यापारिक संस्थान एवं अन्य इकाईयां स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग मंे सम्पर्क कर परीक्षण के लिए बुकिंग करवा सकते हैं। उन्होंने कहा कि इसके उपरान्त विभाग की टीम सम्बन्धित इकाई में पहुंचकर कर्मचारियों का कोविड-19 जांच के लिए रेपिड एंटीजन टेस्ट सुनिश्चित बनाएगी।
उन्होंने कहा कि कोविड-19 से बचाव के लिए प्रदेश सरकार व जिला प्रशासन द्वारा समय-समय पर जारी दिशा-निर्देशों का पालन करना आवश्यक है। उन्होंने सभी से आग्रह किया कि कोविड-19 से बचाव के लिए सार्वजनिक स्थानों पर नाक से ठोडी तक ढकते हुए मास्क पहनें, समुचित सोशल डिस्टेन्सिग नियम का पालन करें तथा बार-बार अपने हाथ साबुन अथवा एल्कोहल युक्त सेनिटाइजर से साफ करते रहें।
डाॅ. उप्पल ने सभी से आग्रह किया कि कोविड-19 से पूर्ण बचाव के लिए टीकाकरण के उपरान्त भी सावधानी बरतनी आवश्यक है। इसके लिए जरूरी है कि शत-प्रतिशत जनसंख्या का कोविड-19 परीक्षण सुनिश्चित बनाया जाए। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग सोलन द्वारा विभिन्न संस्थानों को इस दिशा में पत्र लिखकर आग्रह किया गया है। स्वास्थ्य विभाग परीक्षण के लिए पूर्ण रूप से तैयार है और सहमति उपरान्त शीघ्र परीक्षण सुनिश्चित बनाया जाएगा।