स्वाधीनता के 75 वर्ष के उपलक्ष्य में संगोष्ठी आयोजित…..

बिलासपुर 16 मार्च – सतलुज सेवा ट्रस्ट बिलासपुर द्वारा स्वाधीनता के 75 वर्ष के उपलक्ष्य में संगोष्ठी का आयोजन आज राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय बिलासपुर में किया गया। संगोष्ठी में उपायुक्त पंकज राय ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की।
उन्होंने कहा कि भारत एकलौता ऐसा देश है जहां देश को माता के नाम से संबोधित किया जाता है। भारत माता की आन-बान और शान के लिए वीरों ने हंसते-हंसते अपना जीवन कुर्बान किया है।
उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता सेनानियों ने भारत मां की रक्षा के लिए अनेकों कष्ट सहे है, बलिदान दिए है। देश की आजादी का इतिहास, इतना गौरवमयी तथा तप-त्याग और बलिदानों से भरा हुआ है।
उन्होंने कहा कि असंख्य वीरों-वीरांगनाओं के बलिदानों से हमारा देश गुलामी की बेड़ियों से मुक्त हुआ, उनका कर्ज हम कभी नहीं चुका सकते। उन्होंने कहा कि हमारा दायित्व है कि हम देश की तरक्की में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें। हमारा देश स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद अब स्वाभिमान से स्वावलंबन की राह पर आगे बढा रहा है।  
उन्होंने कहा कि आज देश अपनी सांस्कृतिक पहचान को साथ लिए आधुनिकता के साथ आगे बढ़ता जा रहा है और आशा की जा सकती है कि यह महोत्सव नई पीढ़ी को आजादी पाने के लिए दिए गए बलिदान की स्मृति जलाते हुए एक आदर्श समाज की रचना की प्रेरणा देगा।
मुख्य वक्ता वीर सिंह रांगड़ा ने भारत के इतिहास के बारे में विस्तार से चर्चा की।