स्नो फेस्टिवल के तहत मार्च और अप्रैल में आयोजित होंगे विभिन्न कार्यक्रम -उपायुक्त

जनजातीय क्षेत्र लाहौल में आयोजित होने वाले स्नो फेस्टिवल को लेकर उपायुक्त कार्यालय सभागार में आज बैठक का आयोजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता उपायुक्त लाहौल- स्पीति नीरज कुमार ने की। 

बैठक के दौरान स्नो फेस्टिवल के तहत होने वाले विभिन्न इवेंट और प्रतियोगिताओं को अंतिम रूप देने पर विचार- विमर्श किया गया। नीरज कुमार ने बताया कि मध्य मार्च में लाहौल घाटी के कोकसर क्षेत्र में चयनित की गई जगह पर स्नो क्राफ्ट इवेंट का आयोजन होगा। जबकि पारंपरिक क्राफ्ट से जुड़े अन्य इवेंट उदयपुर में आयोजित होंगे। 

बैठक के दौरान राज्य स्तरीय जनजातीय लोक नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन करने पर भी फैसला लिया गया। उपायुक्त ने बताया कि यह प्रतियोगिता जिला मुख्यालय केलांग में आयोजित होगी। प्रतियोगिता में लाहौल, स्पीति, किन्नौर, भरमौर और पांगी के अलावा अन्य जिलों में रहने वाले जनजातीय समुदाय के लोक नृत्य दलों को आमंत्रित किया जाएगा। इस आयोजन की तारीखें जल्द निश्चित की जाएंगी। 

स्नो फेस्टिवल में कुछ अन्य आकर्षण व इवेंट भी जुड़ेंगे।जिनमें फूड फेस्टिवल, पारंपरिक परिधानों पर आधारित फैशन शो, तीरंदाजी, चोलो, रस्साकशी, फोटोग्राफी, पुरातन चित्रकला प्रतियोगिता समेत अन्य खेल प्रतियोगिताएं भी शामिल रहेंगी। 

उपायुक्त ने आयोजन से जुड़े सभी नोडल अधिकारियों और टीमों को स्नो फेस्टिवल के तहत होने वाले विभिन्न आयोजनों को अंतिम रूप देकर इसकी फाइनल रूपरेखा तैयार करने के निर्देश दिए। 

फूड फेस्टिवल के इवेंट के लिए फिलहाल गोंदला को चुना गया है।

उन्होंने यह भी कहा कि फूड फेस्टिवल में विशेष तौर से घाटी के सभी पारंपरिक व्यंजनों की तमाम वैरायटियों को शामिल किया जाए। इस आयोजन में बेस्ट फूड स्टॉल का पुरस्कार भी दिया जाएगा। 

बैठक में एसडीएम प्रिया नागटा, सहायक आयुक्त डॉ रोहित शर्मा, एसडीएम उदयपुर निशांत तोमर, परियोजना अधिकारी समन्वित  जनजातीय विकास परियोजना मनोज कुमार, खंड विकास अधिकारी डॉ विवेक गुलेरिया के अलावा उप निदेशक नेहरू युवा केंद्र राम सिंह थामस, पुलिस उपाधीक्षक हेमंत ठाकुर, तहसीलदार नरेंद्र कुमार, बाल विकास परियोजना अधिकारी खुशविंद्र व अन्य विभागीय अधिकारी भी मौजूद रहे।