स्क्रब टाइफस से बचने के लिए अपने परिवेश को रखे साफ

बिलासपुर- मुख्य चिकित्सा अधिकारी बिलासपुर डाॅ0 प्रकाश दडोच ने यह जानकारी देते हुए बताया कि कोविड.19 के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग की सभी योजनाओं व बिमारियों के वारे में जानकारी होना आवश्यक है उन्होंने बताया कि बरसात के मौसम में स्क्रब टाइफस फैलने की सम्भावना रहती है इसलिए कोविड के साथ-साथ स्क्रब टाइफस की जानकारी भी आवश्यक है ताकि इससे समय रहते बचा जा सके। स्क्रब टाइफस एक रिकेटसिया नामक जीवाणु से फैलता है जो कि पिसुओं में पाया जाता है। संक्रमित पिसू स्वस्थ आदमी को काटता है और स्क्रब टाइफस फैलाता है।

उन्होंने बताया कि हमें घरों के अन्दर तथा घरों के आस -पास साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए व पिसुओं को मारने के लिए घरों में किटनाशक का छिड़काव करना चाहिए। साथ में अपनी व अपने कपड़ों की सफाई का भी विशेष ध्यान रखना चाहिए। खेतों में काम करते समय पूरी आस्तीन के कपड़े पहनने चाहिए तथा पैरों को पूरे ढकने वाले जुते पहनने चाहिए।

उन्होंने वताया कि स्क्रब टाइफस के मरीज को 104⁰ से 105⁰ तक वुखार होता है ,जोड़ों में दर्द, गर्दन, बाजुओं के निचले भाग व कुल्हों में गिल्टियां होना इसके लक्षण होते हैं। उन्होंने बताया कि यदि उपरोक्त कोई भी लक्षण दिखाई दे तो तुरन्त नजदीक के स्वाथ्य केन्द्र जाकर डाक्टर को दिखाएं और स्क्रब टाइफस से बचे।