सेरी मंच पर दर्शन देने के बाद कमरू घाटी रवाना हुए बड़ा देव कमरूनाग

 मंडी जनपद के आराध्य देवता बड़ा देव कमरूनाग अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव के अंतिम दिन छोटी काशी से विदा हो गए। इससे पूर्व सर्व देवता समिति व जिला प्रशासन के द्वारा बड़ादेव कमरूनाग को  राज बेहडे में नजराना व चादर भेंट की गई। इसके उपरांत बडा देव कमरूनाग ने बाबा भूतनाथ के मंदिर में हाजिरी भरी।

यहां पर हाजिरी भरने के बाद देव कमरूनाग ने सेरी मंच पर लोगों को कुछ देर के लिए दर्शन दिए। देवता के कारदार काह्न सिंह कटवाल ने बताया कि कमरू घाटी पहुंचने के लिए भी बड़ादेव को कई दिन लगेंगे, इस दौरान बडादेव कमरूनाग श्रद्धालुओं के बुलावे पर अपनी इच्छा के अनुसार मेहमान बनकर भक्तों के घर  जाते हैं।

बड़ादेव अपने लाव लश्कर के साथ अब कई दिनों तक भक्तों के यहां मेहमान रहेंगे, इसके बाद अपने मूल स्थान पर पहुंचेंगे। बता दें कि बड़ादेव कमरूनाग शिवरात्रि महोत्सव के दौरान मंडी की टारना माता मंदिर में विराजमान रहते हैं, यहां पर वह सात दिन तक श्रद्धालुओं को दर्शन देते हैं। बड़ा देव कमरुनाग के आगमन से ही मंडी शिवरात्रि का शुभारंभ होता है और बड़ा देव कमरुनाग की विदाई के बाद ही जनपद के सभी देवी देवता अपने मूल स्थान के लिए रवाना होते हैं।