सरकार महिला सशक्तिकरण के लिए प्रतिबद्ध: विधानसभा उपाध्यक्ष

विधानसभा उपाध्यक्ष डॉ हंसराज ने कहा कि हर वर्ष 8 मार्च ,अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के रूप मनाया जाता है। महिलाएं समाज का एक अहम हिस्सा हैं लेकिन वक्त के साथ महिलाएं समाज और राष्ट्र के निर्माण का एक अहम हिस्सा बन चुकी हैं। घर-परिवार से सीमित रहने वाली महिलाएं जब चारदीवारी से बाहर निकल अन्य क्षेत्रों की ओर बढ़ी तो उन्हें अभूतपूर्व सफलता मिलने लगी। खेल जगत से लेकर मनोरंजन तक, और राजनीति से लेकर सैन्य व राष्ट्र की रक्षा तक में महिलाएं न केवल शामिल हुई बल्कि बड़ी भूमिकाओं में हैं। महिलाओं की इसी भागीदारी को बढ़ाने और अपने अधिकारों से अनजान महिलाओं को जागरूक करने व उनके जीवन में सुधार करने के उद्देश्य से अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है। विधानसभा उपाध्यक्ष आज मां चामुंडा मंदिर परिसर देहग्रां में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित विशेष कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करते हुए बोल रहे थे।

इससे पहले उन्होंने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया ।

अपने संबोधन में समस्त महिलाओं को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्रदेश सरकार महिला सशक्तिकरण के लिए प्रतिबद्ध है और विभिन्न योजनाओं में महिलाओं को प्राथमिकता दी गई है। महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए सरकार द्वारा विभिन्न योजनाएं बेटी है अनमोल,शगुन योजना,मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना, साहारा योजना, विधवा पूर्वविर्वाह जैसी महत्वकांक्षी योजनाएं शामिल है। उन्होंने कहा कि उक्त प्रदेश सरकार की महत्वकांक्षी योजनाएं महिलाओं के सशक्तिकरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के कुशल नेतृत्व में सरकार के 4 साल के कार्यकाल में आशा वर्करों और आंगनवाड़ी वर्करों का लगभग मानदेय दोगुना किया गया है।

उन्होंने स्वयं सहायता समूहों का इस अवसर पर आह्वान भी किया कि महिलाओं की आजीविका को और बेहतर करने के लिए कृषि बागवानी के अतिरिक्त स्थानीय उत्पादों के केंद्रों का प्रशिक्षण दिया जाए। उन्होंने यह भी कहा कि प्रत्येक पंचायत से 9 महिलाओं को प्रशिक्षित कर प्रत्येक पंचायत में बुनाई की मशीन भी स्थापित की जाएगी ताकि महिलाओं को रोजगार के बेहतर अवसर मिल सके। 

उन्होंने यह भी कहा कि महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार ने पंचायती राज संस्थाओं में सभी स्तरों पर महिलाओं के लिए 50% सीटें आरक्षित की हैं । और उन्होंने कहा कि समाज को आगे बढ़ाने के लिए महिलाओं का महत्वपूर्ण योगदान है और महिलाओं का शिक्षित होना भी बेहद जरूरी है परिवार में महिला ही अपने बच्चों का पालन पोषण करती है और उन्हें शिक्षा भी देती है इसलिए महिला शिक्षित हो तो परिवार भी हमेशा उत्कृष्ट रहता है।

कार्यक्रम में राजनीतिक,सांस्कृतिक,कोविड महामारी शिक्षा,खेलों व विधानसभा क्षेत्र के विकास में अतुल्य योगदान दिया उन्हें स्मृति चिन्ह के साथ प्रमाण पत्र भी वितरित किए।

कार्यक्रम में विधानसभा उपाध्यक्ष ने अपनी पूजनीय माता सुतो देवी को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया।

इससे पहले विधानसभा उपाध्यक्ष ने देहग्रां चामुंडा माता परिसर में बुनाई सेंटर का भी उद्घाटन किया

इस अवसर पर एसडीएम चुराह गिरीश सामरा ,जिला महामंत्री वरेंद्र ठाकुर, जिला परिषद सदस्य सनवाल वार्ड जयंती दुग्गल, जिला परिषद सदस्य कल्हेल बाढ़ अंजू कुमारी, पंचायत समिति अध्यक्ष कौशल्या देवी, उपाध्यक्ष पंचायत समिति दुनी ठाकुर, मंडल महामंत्री पमूं ठाकुर, सहायक अभियंता विद्युत दीवान चंद गुप्ता, मुख्य सलाहकार एमआर ठाकुर, प्रधान भजराडू पंचायत कृष्णा महाजन,प्रधान ग्राम पंचायत बैरागढ़ भिलखू देवी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता आशा वर्करों सहित अन्य गणमान्य उपस्थित रहे।