श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर ट्रस्ट की बैठक आयोजित

उपायुक्त डीसी राणा की अध्यक्षता में आज श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर ट्रस्ट बैठक आयोजित हुई।
बैठक में उपायुक्त द्वारा गत बैठक में लिए गए निर्णयों की समीक्षा की गई।
बैठक के दौरान विभिन्न विषयों पर चर्चा करते हुए उपायुक्त ने कहा कि श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर की चंबा शहर के अलावा जिले के विभिन्न स्थानों में  संपत्तियों को चिन्हित करने के लिए 3 सदस्य सब कमेटी बनाई जाए और 2 माह के भीतर रिकॉर्ड सहित ब्यौरा प्रस्तुत किया जाए । उन्होंने मंदिर ट्रस्ट की आय को बढ़ाने के लिए ट्रस्ट सदस्यों को विशेष उत्सवों के दौरान मंदिर परिसर के सौंदर्यकरण के लिए आवश्यक कदम उठाने को भी कहा ।
उपायुक्त ने यह निर्देश भी दिए कि मंदिर परिसर में सामुदायिक भवन और लंगर सेवा के अतिरिक्त किसी भी प्रकार की अन्य गतिविधियों और अनुष्ठानों के एवज में शुल्क नहीं वसूला जाए । उन्होंने सामुदायिक भवन की मरम्मत के लिए एस्टीमेट तैयार करने के भी निर्देश दिए।
जिला भाषा अधिकारी तुकेश शर्मा ने बैठक की कार्यवाही का संचालन किया।
भाषा कला एवं संस्कृति अकादमी द्वारा अनुमोदित विभिन्न पुस्तकों की बिक्री एवं प्रचार प्रसार के लिए मुफ्त पुस्तक विक्रय पटल को मंदिर परिसर में खोलने के लिए ट्रस्ट द्वारा सहमति जताई गई और उपायुक्त ने स्थान चयनित करने के निर्देश दिए।
बैठक में मंदिर के मुख्य द्वार पर दानपात्र स्थापित करने का निर्णय लिया गया । मंदिर परिसर के सामने गली के बीचों-बीच स्थित पुरातन गरुड़ स्तंभ की सुरक्षा के मुद्दे पर उपायुक्त ने कहा कि गरुड़ स्तंभ के चारों ओर एक सुरक्षा ढांचा बनाया जाए ताकि इसकी पवित्रता को सुनिश्चित बनाया जा सके। 
उपायुक्त ने कहा कि मंदिर ट्रस्ट के तहत आने वाली व्यवसायिक संपत्तियों के किराए को लोक निर्माण विभाग द्वारा निर्धारित दर पर लिया जाए । आनाकानी और निर्धारित दर से भुगतान नहीं करने वालों के खिलाफ नोटिस जारी कर कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाए ।
उपायुक्त ने कहा कि मंदिर परिसर के बाहर एक पार्क बनाया गया है ताकि मंदिर परिसर में आने वाले श्रद्धालु और शहर के लोग पार्क में बैठ सकें। 
उन्होंने बताया कि सदियों पुराने चंबा के प्राचीन धार्मिक और संस्कृति के प्रतीक इस मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं के मार्गदर्शन के लिए चंबा बाजार के मेन चौक पर एक गेट बनाया जाएगा ताकि श्रद्धालुओं को मंदिर तक पहुंचने में असुविधा ना हो। 
उन्होंने यह भी कहा कि चंबा नगर को धार्मिक पर्यटन के केंद्र के तौर पर भी एक नई पहचान मिलेगी और देश विदेश के पर्यटक श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर के अलावा शहर के अन्य सभी महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों के दर्शन करके चंबा की समृद्ध लोक- संस्कृति और धार्मिक परंपराओं से रूबरू हो सकेंगे।
इस मौके पर एसडीएम चंबा नवीन तंवर, नायब तहसीलदार संदीप कुमार ,सदस्य जसवीर नागपाल, महाराज कृष्ण बड़याल, मंगलेश शर्मा, संदीप कुमार के अलावा अन्य सदस्य भी मौजूद रहे।