श्रमिकों का देश व प्रदेश के विकास में अहम योगदान-जीत राम कटवाल

बैहना ब्राह्मणा में 235 इंडक्शन चूल्हे तथा 55 सिलाई मशीनें की गई वितरित
बिलासपुर 21 फरवरी 2022 – श्रमिकों का देश व प्रदेश के विकास में एक अहम योगदान है। यह शब्द झंडूता विधानसभा क्षेत्र विधायक जीत राम कटवाल ने हिमाचल प्रदेश भवन एवं अन्य कामगार कल्याण बोर्ड, कल्याण विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग के संयुक्त तत्वाधान से लाभार्थियों को इंडक्शन चूल्हा, सिलाई मशीनें, सोलर लालटेन वितरण कार्यक्रम में कहे।
इस कार्यक्रम का आयोजन ग्राम पंचायत घर बैहना ब्राह्मणा के प्रांगण में किया गया। इस अवसर पर लाभार्थियों को हिमाचल प्रदेश भवन एवं अन्य कामगार कल्याण बोर्ड के सौजन्य से 235 इंडक्शन चूल्हे तथा 10 सोलर लालटेन, कल्याण विभाग के सौजन्य से अनुवर्ती कार्यक्रम योजना के अंतर्गत 55 सिलाई मशीनें  वितरित की गई, महिला  एवं बाल विकास विभाग द्वारा बेटी है अनमोल योजना के अंतर्गत 3 बेटियों को 21-21 हजार रुपये की एफडी. वितरित कि गई।
विधायक ने कहा कि श्रमिकों का देश व प्रदेश के विकास में एक अहम योगदान है। प्रदेश सरकार श्रमिकों की समस्याओं के समाधान के लिए लगातार कार्य कर रही हैं। उनके हितों का विशेष ध्यान रख रही है। भवन एवं अन्य सन्निर्माण कार्यों में लगे श्रमिकों को मूलभूत व कल्याणकारी सुविधाएं उपलब्ध करवाना सरकार का मुख्य उद्देश्य है। उन्होंने बोर्ड द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की प्रोत्साहन राशि को बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर का धन्यवाद किया।
उन्होंने कहा कि भवन एवं सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड प्रदेश में भवन एवं सन्निर्माण कामगारों के लिए विभिन्न प्रकार की कल्याणकारी योजनाएं चला रहा है। बोर्ड़ द्वारा कामगार श्रमिकों के बच्चों के लिए उच्चस्तरीय एवं गुणात्मक शिक्षा उपलब्ध करवाने हेतु विभिन्न प्रकार की नई लाभकारी योजनाएं आरम्भ की गई है। इन योजनाओं के अन्तर्गत प्राथमिक शिक्षा से पी.एच.डी. डिग्री तक प्रतिवर्ष 8,400  रुपये  से 1,20,000  रुपये   की आर्थिक सहायता उपलब्ध की जा रही है। इसी प्रकार ऐसे पंजीकृत श्रमिकों के परिवारों में दो बालिकाओं के जन्म पर 51,000  रुपये   प्रति बालिका प्रोत्साहन  राशि उस परिवार को दी जी रही है ताकि समाज में बालिकाओं की परवरिश में किसी प्रकार की कमी न रहे। इसके साथ-साथ पंजीकृत कामगारों को एवं उनके बच्चों की शादी, चिकित्सा सुविधा एवं पेंशन इत्यादि के लाभ प्रदान कर सामाजिक सुरक्षा प्रदान की जा रही है।
उन्होंने कहा कि बोर्ड द्वारा पंजीकृत कामगारों के मानसिक रूप से मंद व अपंग बच्चों के लिए योजना के अन्तर्गत पंजीकृत लाभार्थी के बच्चों की देखभाल के लिए प्रत्येक वर्ष 20,000  रुपये   की राशि, विधवा पेंशन योजना में पंजीकृत लाभार्थी की विधवा को प्रत्येक माह 1500  रुपये   की राशि, होस्टल सुविधा योजना में पंजीकृत लाभार्थी के बच्चों को होस्टल में रहने पर प्रत्येक वर्ष 15,000  रुपये   से 20,000  रुपये   तक की राशि उपलब्ध करवाई जा रही है।
मुख्यमंत्री आवास योजना पी.एम.ए.वाई. के अंतर्गत पंजीकृत लाभार्थी को उनके पी.एम.ए.वाई. या एम.ए. वाई योजना के तहत ग्रामीण विकास विभाग द्वारा स्वीकृत मकान बनाने हेतु 1,50,000  रुपये   की अतिरिक्त राशि बोर्ड द्वारा प्रदान की जाएगी। विकलांगता पेंशन योजना के अंतर्गत पंजीकृत लाभार्थी की दुर्घटना एवं बीमारियों के कारण हुई विकलांगता की स्थिति में 500 रुपये की राशि प्रतिमाह बतौर पेंशन देने का प्रावधान है। इसके अतिरिक्त 50 प्रतिशत से अधिक विकलांगता की स्थिति में 50,000 रुपये और 50 प्रतिशत से कम विकलांगता में 25,000 रुपये की राशि प्रदान की जाती है। अन्तिम संस्कार हेतु सहायता के अंतर्गत आश्रितों को 20,000 रुपये की राशि देय होगी।
इस अवसर पर जिला श्रम अधिकारी भावना शर्मा ने मुख्यातिथि का स्वागत किया तथा हिमाचल प्रदेश भवन एवं अन्य कामगार कल्याण बोर्ड द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी दी।
इस कार्यक्रम में कोविड 19 नियमों का पालन किया गया।
इस अवसर प्रदेश किसान मोर्चा प्रवक्ता प्रवेश शर्मा, पंचायत समिति अध्यक्ष अभिषेक चन्देल, भारतीय मजदूर संघ के प्रधान दिलवाग सिंह,  भारतीय मजदूर संघ  सचिव सत्या पाल वर्मा, तहसील कल्याण अधिकारी कमल कांत, बाल विकास  परियोजना अधिकारी लाल सिंह, ग्राम पंचायत प्रधान कांशी राम, जिला समन्वयक सुमित शर्मा उपस्थित रहे।