राजस्व मामलों को प्राथमिकता के आधार पर निपटाएं – पंकज राय

बिलासपुर – उपायुक्त पंकज राय ने कहा कि राजस्व अधिकारी राजस्व कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर निर्धारित लक्ष्यों को समयबद्ध तरीके से पूरा करें ताकि लोगों को अपने राजस्व से सम्बन्धित मामलों में त्वरित न्याय मिल सके। उन्होंने कहा इससे जहां अधिकारियों की कार्यकुशलता बढे़गी, वहीं कार्यप्रणाली में भी पारदर्शिता आएगी।

उन्होंने कहा कि राजस्व विभाग सीधे तौर पर आम आदमी से जुड़ा हुआ विभाग इसलिए राजस्व अधिकारी लोगों को बेहतर सुविधाएं प्रदान करने के लिए कार्य करें। उन्होंने राजस्व अधिकारियों को निशानदेही, तकसीम, खानगी तकसीम, इंतकाल, आॅनलाईन शिकायत निवारण तथा ई-डिस्ट्रिक्ट के माध्यम से आॅनलाईन प्रमाण पत्र आदि मामलों को भी समयबद्ध तरीके से निपटाने के निर्देश दिए।

उपमण्डल स्तर पर अधिकारियों के साथ करें नियमित बैठकें

उन्होंने समस्त एसडीएम को निर्देश दिए कि उपमण्डल स्तर पर भी अधिकारियों के साथ नियमित रूप से बैठकें करें ताकि लम्बित मामलों को शीघ्रता से निपटाया जा सके। उन्होंने राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिए कि अपने अधिनस्थ पटवार वृतों का नियमित तौर पर निरीक्षण करें। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री सेवा संकल्प के तहत प्राप्त होने वाली शिकायतों का निपटारा निर्धारित समयावधि में करना सुनिश्चित करें।

सरकारी भूमि पर किए गए अवैध कब्जों का करें निपटान

उन्होंने इस मौके पर राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिए कि लोगों द्वारा सरकारी भूमि पर किए गए अवैध कब्जों का निपटान भी शीघ्रता से सुनिश्चित करें।

वैक्सिनेशन सैंटरों पर एसओपी का करवाएं पालन

उन्होंने सभी राजस्व अधिकारियों से आग्रह किया कि वे यह भी सुनिश्चित करें कि जहां-जहां वैक्सिनेशन लगाई जा रही है वहां एसओपी का पूरा पालन हो रहा है या नहीं इसका भी ध्यान रखें। वैक्सिनेशन सैंटरों का पूरा जायजा लेकर वस्तुतःस्थिति पर लगातार नजर रखें।

उन्होंने राजस्व अधिकारियों को अगाह किया कि बरसात के मौसम के दौरान लोगों को नदी-नालों तथा भूसखलन वाले क्षेत्रों, खतरनाक सड़कों, विद्युत लाईनों के नजदीक जाने से रोके ताकि किसी भी प्रकार का जान-माल का नुकसान न हो।

उन्होंने अधिकारियों को वन सम्पदा को बढ़ाने के लिए लोगों के सहयोग के साथ वृक्षारोपण करने के निर्देश भी दिए ताकि पर्यावरण का संरक्षण किया जा सके।

इस अवसर पर एडीसी तोरूल रवीश, सहायक आयुक्त सिद्धार्थ आचार्य, एसडीएम सदर रामेश्वर दास, घुमारवीं राजीव ठाकुर, झंडुता नरेश वर्मा, स्वारघाट सुभाष गौतम, जिला राजस्व अधिकारी देवी राम के अतिरिक्त समस्त तहसीलदार उपस्थित रहे।