यूक्रेन में मारे गए भारतीय छात्र की पार्थिव देह पहुंचेगी बेंगलुरु, 816 लोगों की जा चुकी है जान

यूक्रेन और रूस के बीच लगातार 24वें दिन भी जंग जारी है। दोनों मे से कोई देश एक-दूसरे के सामने झुकने के लिए तैयार नहीं है। यूक्रेन ने साफ कहा है कि शांति समझौते के लिए हम ईयू की सदस्यता का अभियान रोकने की शर्त स्वीकार नहीं करेंगे। उधर, संयुक्त राष्ट्र ने बताया है कि यूक्रेन में अब तक कम से कम 816 नागरिकों की जान जा चुकी है। यूक्रेन और रूस के बीच चल रहे युद्ध में मारे गए भारतीय नवीन शेखरप्पा 21 मार्च को सुबह तीन बजे बेंगलुरु पहुंचेगा।

रूस के आक्रमण के बाद यूक्रेन को बिना फटे बमों को निष्क्रिय करने में सालों लगेंगे, यूक्रेन के गृहमंत्री ने कहा कि रूस के आक्रमण के बाद यूक्रेन को बिना फटे बमों को निष्क्रिय करने में सालों लगेंगे। यूक्रेन की राजधानी में डेनिस मोनास्टिर्स्की ने कहा कि युद्ध समाप्त होने के बाद देश को बड़े पैमाने पर कार्य से निपटने के लिए पश्चिमी सहायता की आवश्यकता होगी।