यातायात नियमों के प्रति जागरूकता के लिए विशेष अभियान शुरू

जिला चम्बा में लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से परिवहन विभाग चम्बा ने विशेष अभियान शुरू कर दिया है। इस अभियान के तहत सोमवार को जिले के कोने- कोने में कलाकारों ने पहुंचकर नुक्कड़ नाटक के माध्यम से लोगों को यातायात नियमों के बारे में विस्तृत जानकारी दी। क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी चम्बा ओंकार सिंह ने बताया कि परिवहन निशालय के आदेश अनुसार यह जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिला स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति और जिला प्रशासन सड़क सुरक्षा को लेकर पूर्ण रूप से गंभीर है। उन्होंने कहा कि सोमवार को रंगदर्शन ग्रुप चम्बा द्वारा राजकीय महाविद्यालय चम्बा और बस अड्डे पर लोगों को जागरूक किया गया।

इसके अतिरिक्त युवा किसान विकास मंच टिकरी ने किहार व सलूणी बस अड्डे पर, मां सरस्वती म्यूजिकल ग्रुप लेच ने भंजराडू  और राजकीय महाविद्यालय तीसा, आर्यन कला मंच ने हटली और सिहुंता तथा प्रिया म्यूजिकल ग्रुप जडेरा ने भरमौर व खड़ामुख में लोगों को जागरुक किया। उन्होंने लोगों को बताया है कि यदि सड़क पर कोई भी दुर्घटना होती है तो आप घायल की यथासम्भव मदद करें।

पुलिस व एंबुलेंस को अविलंब कॉल करें और एक “गुड सेमटेरियन” के रूप में अपनी पहचान बनाएं। यदि आप किसी घायल की मदद करते हुए उसको अस्पताल पहुंचाते हैं तो आपको पुलिस द्वारा परेशान नहीं किया जाएगा। न ही आप को पूछताछ के लिए बार-बार बुलाया जाएगा।  समय पर किसी की सहायता कर उसकी जान अवश्य बचाएं। इसके अतिरिक्त लोगों को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरुक करते हुए कलाकारों ने कहा कि प्रति वर्ष जितने लोगों की मौत विभिन्न बीमारियों के चलते नहीं होती है, उससे अधिक लोगों की मौत सड़क हादसों के कारण हो जाती है। जब तक लोग यातायात नियमों का पालन स्वयं की सुरक्षा के लिए समझकर नहीं करेंगे, तब तक हादसों को नहीं रोका जा सकता। उन्होंने लोगोें से बाइक चलाते समय स्पीड का ध्यान रखने व अनिवार्य रूप से हेलमेट का प्रयोग करने की सलाह दी। साथ ही चौपहिया वाहन चलाते समय सीट बेल्ट लगाने के लिए प्रेरित भी किया।उन्होंने कहा कि वाहन चलाते समय मोबाइल का प्रयोग न करें। नियमों का पालन करने से न सिर्फ हादसों में कमी आएगी, बल्कि जनहानि को भी रोका जा सकेगा। क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी ने बताया कि मंगलवार को भी जिले के विभिन्न क्षेत्रों में इसी प्रकार जागरुकता कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।