मोबाईल नेटवर्क के समय दूर जाकर की पढ़ाई आज पाया कृतिका ने पहला स्थान

राजगढ़ –(पवन तोमर)सीबीएसई की और से जमा दो का परीक्षा परिणाम घोषित किया गया है। परीक्षा परिणाम में राजगढ़ उप मंडल के तहत डीएवी स्कुल राजगढ़  का परीक्षा परिणाम शत प्रतिशत रहा। स्कूल के अध्यापक नरेश चौहन ने जानकारी देते हुए बताया कि जमा दो मेडिकल में कृतिका ठाकुर ने 91 प्रतिशत अंक लेकर पहला स्थान हासिल किया है। जिससे की क्षेत्र में ख़ुशी का मोहल बना हुआ है। कृतिका ठाकुर पुत्री राजकुमार ठाकुर  निवासी ग्राम पंचयात नेरी कोटली के डरेना गाँव के स्थाई निवासी है। इस बारे जब कृतिका के पिता राजकुमार ठाकुर से बात की गई तो उन्होंने बताया कि उनकी बेटी कृतिका को शुरू से ही पड़ने का बहुत शोंक था और वह इससे पिछली क्लास में भी पहले स्थान हासिल करती रहती है।  जब से देश में कोरोना वायरस फेला है तब से कृतिका को पड़ाई करने में थोड़ी परेशानी आई थी। गाँव में रहते हुए मोबाइल में  नेटवर्क न आने से खासी परेशानी उठानी पडती थी। जब जब मोबाईल  में ऑनलाइन क्लास थी तो कई बार घर से दूर भी जाना पड़ता था ताकि मोबाइल पर  नेटवर्क आ सके और अपनी ऑनलाइन क्लास अटेंड कर सके। राजकुमार ठाकुर ने बताया कि यदि देश में कोरोना वायरस न फैलता और न ही स्कुल बंद होते तो कृतिका 91 प्रतिशत से अधिक अंक ले सकती थी। कृतिका ने बताया कि इसका श्रय वह स्कुल के प्रिंसिपल व्  सभी अध्यापको सहित अपने माता–पिता को देना चाहती है। कृतिका ने बताया कि उसका सपना  डाक्टर बनना है ताकि वह लोगो की सेवा सक सके। कृतिका ने जहा जमा दो मेडिकल में पहला स्थान हासिल किया है तो वही

दूसरी और जाग्रति वर्मा ने भी जमा दो मेडिकल में दूसरा

 आयुष पुंडीर ने तीसरा  स्थान हासिल किया है। नरेश चौहन  ने बताया कि इसके इलावा नॉन मेडिकल में

दिव्यांश  भारद्वाज ने 95 प्रतिशत अंक प्राप्त करके पहला स्थान व्

अभिषेक कंगल ने दूसरा स्थान व्

कृति सूद ने तीसरा स्थान  हासिल किया है। स्कुल के प्रिन्सिपल विजय वर्मा ने बताया कि उनके स्कुल का परीक्षा परिणाम शत प्रतिशत रहा है जिसके लिय उन्होंने स्कुल के सभी होनहार विद्यार्थियों को बधाई दी है साथ ही भविष्य के लिय भी शुभकामनाएं दी है। इसके इलावा उन्होंने स्कुल के अध्यापको जिसमे लक्ष्मी  जमा दो के बचो को कमेस्ट्री व् मनोहर फिजिक्स व् राधिका इंग्लिश व् लता मेथ व् प्रगति बायोलोजी व् विनोद शारीरिक शिक्षा की शिक्षा देते है उपरोक्त सभी अध्यापको ने भी बच्चो की शिक्षा के लिए पूरी मेहनत की है जिसके लिए सभी बधाई के पात्र है।