बाबा बालक नाथ जी शाहतलाई चैत्र मेला 14 मार्च से 13 अप्रैल तक धूमधाम से मनाया जाएगा – तोरूल रवीश

बिलासपुर 6 मार्च:- चैत्र मेला बाबा बालक नाथ जी शाहतलाई मेला 14  मार्च से 13 अप्रैल तक बड़ी धूमधाम से मनाया जाएगा। यह जानकारी अतिरिक्त उपायुक्त तोरुल रवीश ने चैत्र मेला बाबा बालक नाथ शाहतलाई के प्रबंधों के लिए आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी।  
उन्होंने बताया कि मेले के सफल आयोजन के लिए सभी को आपसी सामंजस्य व सहयोग की भावना से अपनी कारगर भूमिकाओं का निर्वहन करना होगा ताकि श्रद्धा एवं भक्ति के परम स्थल बाबा की नगरी में श्रद्धालुओं की तादाद में वृद्धि हो और लोगों को अच्छी सुविधा भी प्राप्त हो सके।
      मेले के प्रबंधों को देखने के लिए एसडीएम झण्डुता को मेला अधिकारी तथा कानून व्यवस्था को देखने के लिए डीएसपी घुमारवीं को पुलिस मेला अधिकारी नियुक्त किया गया है। नायब तहसीलदार कलोल को सहायक मेला अधिकारी नियुक्त किया गया। उन्होंने बताया कि मेले के दौरान तलाई में धारा 144 लागू रहेगी।
       बैठक में निर्णय लिया गया कि कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए मेला डयूटी के दौरान पुलिस, होमगार्ड तथा महिला पुलिस को तैनात किया जाएगा और आवश्यकतानुसार इनकी संख्या में वृद्धि भी की जा सकती है।
बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि मेले से पहले तलाई की सभी सड़कों की टायरिंग कर दे। स्वास्थ्य विभाग को मेले में तीन डॉक्टर को तैनात करने के निर्देश दिए। जल शक्ति विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि मेले के दौरान पानी मे ब्लीचिंग पॉउडर डालना सुनिश्चित करें।
     उन्होंने कहा कि सभी औपचारिकता व शर्तों को पूरा करने के उपरान्त ही मंदिर न्यास द्वारा बाहरी लंगर समितियों को लंगर लगाने की अनुमति दी जाएगी, जबकि सहायक मेला अधिकारी की अध्यक्षता में बनी खाद्य कमेटी द्वारा सभी लंगरों की गुणवत्ता की समय-समय पर जांच की जाएगी। उन्होंने कहा कि बिना अनुमति से लंगर को चलाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। यदि कोई लंगर मालिक बिना अनुमति के लंगर चलाता है तो उनके खिलाफ खाद्य कमेटी द्वारा सख्त कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।
उन्होंने स्वास्थ्य अधिकारियों व खाद्य निरीक्षक से कहा कि वह स्थानीय दुकानों में बन रहे खाद्य पदार्थो के संयुक्त रूप से सेंपल लेने आरंभ कर दें ताकि किसी के स्वास्थ्य से खिलवाड़ न हो सके।  
       उन्होंने कहा कि मेले के दौरान श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए स्थाई तथा अस्थाई शौचालयों का निर्माण भी किया जाएगा, ताकि गंदगी न फैले और बाहर से आए श्रद्धालुओं को खुले में शौच करने से रोका जा सके। उन्होंने मन्दिर ट्रस्ट के सभी अधिकारियों तथा नगर पंचायत प्रतिनिधियों, व्यापार मण्डल और स्थानीय लोगों से सफाई व्यवस्था पर विशेष ध्यान देने व मेले को सफल बनाने के लिए सहयोग का आग्रह किया। उन्होंने नगर पंचायत को मंदिर क्षेत्र तथा इसके आसपास जगह-जगह पर डस्टबिन लगाने के निर्देश दिए ताकि प्लास्टिक इत्यादि से मेला क्षेत्र तथा आसपास गंदगी न फैले और बाहरी राज्यों से आए श्रद्धालुओं के बीच भी इस तीर्थ स्थान का अच्छा संदेश जाए।
       इस अवसर पर उप मंडल अधिकारी ना0 झंडूता एवं अध्यक्ष मंदिर न्यास बाबा बालक नाथ शाहतलाई नरेश वर्मा ने कहा कि मेले के दौरान बाहरी राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं द्वारा प्रयोग में लाये जाने वाले प्लास्टिक के लिफाफों इत्यादि पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने के लिए सम्बन्धित अधिकारियों को कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए है तथा स्थानीय दुकानदारों से आग्रह किया गया है कि वह प्लास्टिक के लिफाफों  इस्तेमाल न करें ताकि नालियों में अवरोध इत्यादि न हो और उनकी साफ सफाई रखी जा सकें। उन्होंने कहा कि लंगर संचालकों से भी आग्रह किया जाएगा कि वह भी प्रतिबन्धित थर्मोकोल का प्रयोग न करें।  
         बैठक में मेले के दौरान कानून, परिवहन, बिजली, पेयजल व्यवस्था को सुचारू बनाने पर भी व्यापक रूप से चर्चा की गई तथा संबंधित विभागों के अधिकारियों को व्यवस्था दुरूस्त रखने के निर्देश दिए गए। बैठक में निर्णय लिया गया कि यातायात सुविधा को सुचारू रूप से चलाने के लिए तलाई के मुख्य चैक पर कम से कम बसों का ठहराव हो तथा बिना परमिट श्रद्धालूओं को लाने व ले जाने वाली टैक्सियों व बड़े वाहनों पर सख्त कार्यवाही की जाए।            
      बैठक में आगजनी की घटनाओं से बचने के लिए फायर ब्रिगेड की गाड़ियां की सेवाएं भी मेले के दौरान ली जाएगी। बीमारी व आपात स्थिति के समय चिकित्सकों की 24 घण्टे सेवाऐं लेने के अतिरिक्त एंबुलेंस 108 का सहयोग भी लिया जाएगा। बैठक में निर्णय लिया गया कि मेले के दौरान भान बेचने तथा भीख मांगने पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा, अवहेलना पर एसएचओ को कार्यवाही के निर्देश दिए गए है।
  इसके अतिरिक्त मेले के दौरान तलाई की सभी सराओं में ढोल व स्पीकरों तथा बाजार में रेहड़ी व फड़ी लगाने पर भी पूर्ण प्रतिबंध रहेगा तथा श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए तलाई मंदिर के पास चयनित स्थानों पर पार्किंग की व्यवस्था की जायेगी।  
इस अवसर पर उपमंडल अधिकारी एवं अध्यक्ष मंदिर न्यास शाहतलाई नरेश वर्मा, पुलिस उप अधीक्षक अनिल ठाकुर, तहसीलदार मुल्तान सिंह बन्याल, मंदिर प्रभारी सुखदेव चंदेल, सचिव नगर पंचायत पंकज धीमान,   नगर पंचायत अध्यक्ष बन्दना कुमारी, एस एच ओ कर्म सिंह ठाकुर, गृह रक्षक कम्पनी कमांडर राकेश कुमार, उपाध्यक्ष नगर पंचायत आनंद शर्मा, मंदिर न्यासी, बृज लाल, विजय शर्मा, राजेश कुकी, परमजीत सिंह, करतार सिंह, राजेन्द्र चैधरी, रामकिशन शर्मा, पवन कुमार, केवल कुमार, अधिशाषी अभियंता लोक निर्माण दीपक सुरेली, अधिशाषी अभियंता जल शक्ति रत्न देव, खण्ड चिकित्सा अधिकारी अरविंद टंडन उपस्थित रहे।