पुलिस अधीक्षक मानव वर्मा ने कहा, खराब मौसम के बावजूद बीआरओ का कार्य सराहनीय

केलांग- भारी बर्फबारी के बीच एक गंभीर मरीज को आज केलांग से कुल्लू के लिए रेफर किया गया। मरीज के स्वास्थ्य की गंभीरता को देखते हुए जिला आपदा प्रबंधन ऑथोरिटी ने बीआरओ के साथ संपर्क साधा ताकि मरीज को कुल्लू पहुंचाया जा सके। बीआरओ की 94 आरसीसी ने भी प्रतिकूल परिस्थितियों के बावजूद सड़क बहाली के कार्य को अंजाम दिया और केलांग निवासी मरीज शांति पत्नी रूद्र सिंह को ले जा रही एंबुलेंस को अटल टनल के साउथ पोर्टल से आगे तक कुल्लू जाने के लिए सड़क बहाल करने में बेहतरीन कार्य को आज अंजाम दिया। गौरतलब है कि सर्दी के मौसम में बर्फबारी के दौरान भी बीआरओ पूरी शिद्दत के साथ सड़क बहाली को अपनी प्राथमिकता में रखती है। शांति  को 30 जनवरी को क्षेत्रीय अस्पताल केलांग में भर्ती करवाया गया था जहां से उसे रेफर किया गया।

जिला आपदा प्रबंधन आथॉरिटी के अध्यक्ष एवं उपायुक्त लाहौल- स्पीति नीरज कुमार ने कहा कि जिला आपदा प्रबंधन नियंत्रण कक्ष को जैसे ही मदद के लिए कोई सूचना मिलती है तो उस पर त्वरित प्रतिक्रिया देना सुनिश्चित किया जाता है।

वहीं, पुलिस अधीक्षक लाहौल-स्पीति मानव वर्मा ने कहा कि बीआरओ के मेजर दीपक भगत ने मुश्किल  परिस्थितियों के मद्देनजर भी सकारात्मक और त्वरित कार्रवाई को हिमस्खलन के खतरों के बावजूद अंजाम देने में अपनी पूरी टीम के साथ महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है। 

इसी के चलते मनाली से तांदी और तांदी से पांगी तक के रास्ते को बीआरओ द्वारा कम समय में बहाल किया गया।