पीएम के रोड शो के पलटवार में अखिलेश का शक्ति प्रदर्शन, मत्था टेक मांगा जीत का आर्शीवाद

यूपी विधानसभा चुनाव के अंतिम चरण के प्रचार का अंतिम दिन शनिवार को है। इससे पहले बनारस में शक्ति प्रदर्शन का मौका था। पहले पीएम मोदी ने रोडशो किया और प्रियंका के साथ राहुल गांधी भी जनसभा में उतरे। उसके बाद देर शाम सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने रोड-शो से अपनी ताकत का एहसास कराया। रोडशो के बाद बाबा विश्वनाथ के दरबार भी पहुंचे और दर्शन पूजन किया।

प्रशासन की तरफ से रोडशो का रूट बदलने और चार की बजाय केवल दो घंटे का समय देने के कारण रोडशो करीब डेढ़ किलोमीटर तक ही सिमटा दिया गया था। इस दौरान सपाइयों का हुजूम उमड़ पड़ा। मोदी के रोडशो की तरह ही अखिलेश के रोडशो में भी तरह तरह के नारे लगते रहे।

सबसे ज्यादा आकर्षित काशी में कमाल होगा नारे ने किया। इसके अलावा काशी में लहर बड़ी करारी है, साइकिल सब पर भारी है। जनता ने भरी हुंकार, भाजपा सरकार के बस ‘दिन है बचे ‘चार’, सिर्फ छह दिन शेष, दस मार्च को आ रहे हैं अखिलेश। आदि नारे लगते रहे।

अखिलेश तय समय के अनुसार रात आठ बजे कार से रथयात्रा पर पहुंचे और वहां से अपने बस की छत पर सवार हो गए। उनका रोड-शो रथयात्रा, लक्सा से होते हुए गोदौलिया की तरफ बढ़ा तो फूलों की बारिश के साथ कई छतों से आतिशबाजी भी होती रही। इस दौरान सपा कार्यकर्ताओं ने अखिलेश यादव को तीर-धनुष और त्रिशूल के साथ डमरू भी भेंट किया।