पटाखा फैक्‍ट्री धमाके का मुख्‍य आरोपित मुंबई से गिरफ्तार, ब्‍लास्‍ट में 11 लोगों की जा चुकी है जान

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सदन को अवगत करवाया की ऊना पटाखा फैक्‍ट्री विस्फोट मामले के मुख्य आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है। हिमाचल पुलिस की एसआइटी ने रोहित सूरी मुंबई से गिरफ्तार किया है। एसआईटी ने रोहित सूरी को गिरफ्तार करने में बड़ी कामयाबी हासिल की है। ऊना विस्फोट मामले के बाद से एसआईटी रोहित सूरी की तलाश कर रही थी। इस हादसे में अब 11 लोगों की मौत हो चुकी है। घटना स्‍थल पर छह महिलाओं की जिंदा जलकर मौत हो गई थी। इसके अलावा बीस के करीब लोग गंभीर रूप से झुलस गए थे, जिनमें कुछ ऊना जोनल अस्‍पताल व कुछ को पीजीआइ चंडीगढ़ में उपचाराधीन किया गया था। लेकिन गंभीर रूप से झुलसे सात और लोगों की मौत हो गई है। आरोप है कि आरोपित ने ऊना के बाथरी में अवैध रूप से पटाखा फैक्‍ट्री चला रखी थी।

फैक्ट्री मालिक रोहित सूरी निवासी नंगल पंजाब का रहने वाला है। पुलिस ने अब तक इस मामले में चार आरोपितों को गिरफ्तार किया है। रोहित सूरी के व्यवसाय साझीदार निखिल सोनी को भी जल्द ही पुलिस गिरफ्तार कर सकती है। बाथू पटाखा उद्योग पूरी तरह से अवैध रूप से चल रहा था। इस उद्योग में आग लगने से 11 लोग अब तक दम तोड़ चुके हैं, जबकि एक अन्य कामगार की हालत नाजुक बनी हुई है।

रोहित सूरी ने बाथू में सिंगल विंडो क्लीयर के माध्यम से बाथू में उद्योग तो स्थापित कर लिया। लेकिन किसी भी विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र नहीं लिया। इस उद्योग के स्थान पर पहले रेडीमेड कपड़ों का कार्य होता था। इसे रोहित सूरी द्वारा खरीद कर इस स्थान पर जय गुरु जी नाम से पटाखा उद्योग स्थापित कर दिया। इस उद्योग का बकायदा जीएसटी नंबर लेकर सेल परचेज भी की गई और कारोबार बढ़ने पर एक अन्य उद्योग से जमीन लेकर वहां पर एक अन्य उद्योग पटाखा बनाने का लगा दिया, जिसमे ये भीषण अग्निकांड हुआ और 11 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। सूत्रों के अनुसार इसका साला निखिल सोनी भी इस उद्योग में साझीदार था और पुलिस अब जल्द ही उसको गिरफ्तार करने जा रही है।