जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सात दिवसीय शिविर की गई स्थापना

बिलासपुर 17 मार्च – राज्य स्तरीय मेले में बिलासपुर लुहणू मैदान में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सात दिवसीय शिविर की स्थापना की गई जिसका उद्घाटन अध्यक्ष (जिला एवं सत्र न्यायाधीश) जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पुरेन्द्र वेद्या ने किया।
अध्यक्ष पुरेन्द्र वेद्या ने कहा कि इस स्टाॅल का उद्देश्य आम जनता को अनेक कानूनों व निःशुल्क विधिक सेवाओं का ज्ञान प्रदान करवाना है। इसके तहत इस स्टाॅल में प्रत्येक दिन जिला बिलासपुर अधिवक्ता तथा पैरालीगल वालंटियर, अन्य कर्मचारियों सहित शिविर में मौजूद रहेंगे जोकि जन सामान्य को घरेलू-हिंसा, दहेज-प्रथा, बाल-श्रम, बाल-विवाह, मादक द्रव्यों व ड्रग्स के सेवन के विरूद्ध तथा अन्य कानूनों की बारीकियों को समझाएंगे। इसके अतिरिक्त मुफ्त कानूनी सेवाओं का तथा नालसा की विभिन्न लाभकारी योजनाओं का भी ज्ञान दिया जाएगा।
उन्होंने बताया कि कोविड-19 महामारी के चलते सामाजिक दूरी बनाने के उद्देश्य से जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने जनता तक कानूनी सहायता, सलाह तथा आवश्यक कानूनी राहते पहंुचाने के लिए डिजिटल माध्यमों का प्रयोग किया और गूगल मीट, व्हाट्सऐप तथा वीडियो काॅन्फ्रेसिंग के ज़रिए विधिक सेवाओं का कार्य जारी रखा।
इसी प्रकरण में विधिक सेवा प्राधिकरण में ‘डीएलएसए, बिलासपुर’ के नाम से एक यूटयूब चैनल प्रारंभ किया है, जिसे चैनल पर पिछले एक साल सात महीनों में कानूनी जानकारी के लिए करीब ‘40 वीडियों’ उपलब्ध की गई है, जो इस स्टाॅल में भी प्रदर्शित की जाएंगी।
उन्होंने विधिक सेवा प्रदाताओं तथा आंगतुकों से कोविड-19 से बचाव रखते हुए सेवाओं के लाभ का आदान-प्रदान करने पर बल दिया।
इस मौके पर अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रीति ठाकुर, सीनियर सिविल जज एवं मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी अनिल शर्मा, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव विक्रांत कौंडल, सिविल जज एवं न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी एकांश कपिल, बार एसोसिएशन बिलासपुर प्रधान राम शर्मा व अन्य अधिवक्तागणों सहित जिला न्यायालय के कर्मचारी मौजूद रहे।