जिला परिषद सदस्यों की समस्याओं को प्राथमिकता से निपटाएं – मुस्कान जिला परिषद की त्रैमासिक बैठक आयोजित

बिलासपुर – जिला परिषद बिलासपुर के त्रैमासिक बैठक जिला परिषद की अध्यक्षा कुमारी मुस्कान की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में जिला परिषद अध्यक्षा ने कहा कि सभी अधिकारी जिला परिषद सदस्यों की समस्याओं को प्राथमिकता से निपटाए क्योंकि चुने हुए प्रतिनिधि लोगों के प्रति जवाबदेह होते है तथा सदस्य बैठक में लोगों की समस्याओं के जवलन्त मुद्दें ही उठाते है।
मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद एवं अतिरिक्त उपायुक्त तोरुल रवीश ने कहा कि जिला परिषद सदस्यों के मुद्दों को गम्भीरता से लें और विभाग प्रमुख स्वयं बैठक में उपस्थित रहे और यदि किसी कारणवश बैठक में अपने प्रतिनिधि को भेजे तो उन्हें बैठक में उठाए जाने वाले मुद्दों से पहले से अवगत करवाएं।
उन्होंने जिला परिषद सदस्यों से भी आग्रह किया कि वे अपने मुद्दों को बैठक से पहले कार्यालय में दें ताकि अधिकारी समस्याओं के बारे में बेहतर तरीके से तैयारी कर सके।
उन्होंने जिला परिषद सदस्यों से आग्रह किया कि वे 9 से 15 अगस्त तक चलाए जा रहे ‘स्वच्छ हिमाचल अभियान, 2021’ में अपना सहयोग दंे व अपने कार्यक्षेत्र में स्वच्छता व इस अभियान से लोगों को जागरूक करें।
उप निदेशक एवं परियोजना अधिकारी जिला ग्रामीण विकास अभिकरण द्वारा विकास खण्ड सदर, घुमारवीं, झण्डूता व श्री नैना देवी जी के मनरेगा की शैल्फ को अनुमोदन के लिए सदन में रखा गया। जिस पर सदन ने कार्योतर स्वीकृत प्रदान की।
बैठक में जिला परिषद उपाध्यक्ष प्रेम सिंह ने बिलासपुर-चांदपुर-मलोखर-सकरोहा रुट पर बस चलाने का मामला उठाया जिसके जबाव में हिमाचल पथ परिवहन निगम द्वारा बस आरम्भ  कर दिए जाने की सूचना दी गई।
जिला परिषद सदस्य गौरव शर्मा द्वारा जिला अस्पताल बिलासपुर में सिटी स्कैन मशीन, चांदपुर के पास निर्मित डीआरडीए के भवन तथा कंदरौर पुल पर जंप लगने जैसी समस्याओं की भी बैठक में चर्चा की गई है।
बैठक में जिला परिषद सदस्य प्रोमिला बसू द्वारा ग्राम पंचायत दसलेहडा के गोयल गांव में लोगों के घरों में बिजली तथा पानी के कनैक्शन काटने, प्रधानमंत्री आवास योजना, मनरेगा में नए दिशा निर्देशों अनुसार भुगतान आदि उठाए गए विषयों पर भी चर्चा की गई।
जिला परिषद सदस्य मदन कुमार, ईश्वर दास, बिमला देवी, बेली राम, शालू, राज कुमार, शैलजा, सत्या, मान सिंह, पूजा रानी ने भी बैठक में हुई चर्चा में भाग लिया।
इस अवसर पर परियोजना अधिकारी जिला ग्रामीण विकास अभिकरण राजेन्द्र गौतम, जिला ऑडिट अधिकारी विनय शर्मा सहित सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।