जिला परिषद सदस्यों की समस्याओं को शीघ्र निपटाएं विभाग – मुस्कान

जिला परिषद सदस्यों की समस्याओं को शीघ्र निपटाएं विभाग – मुस्कान
जिला परिषद की त्रैमासिक बैठक आयोजित

बिलासपुर 22 फरवरी 2022 – जिला परिषद बिलासपुर की त्रैमासिक बैठक जिला परिषद की अध्यक्ष कुमारी मुस्कान की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में वित्तीय वर्ष 2022-23 हेतु विभिन्न मदों के तहत 8 करोड़ 60 लाख 11 हजार 159 रुपये का बजट को स्वीकृति प्रदान की गई। इसके अतिरिक्त बैठक में नवम्बर, 2021 से जनवरी, 2022 तक संपन्न हुए क्वाटर के आय-व्यय की जानकारी देते हुए अध्यक्ष दे बताया कि इस अवधि के दौरान विभिन्न मदों के तहत 2 करोड़ 24 लाख 10 हजार 577 रुपये खर्च किए गए है।
जिला परिषद अध्यक्षा ने कहा कि सभी अधिकारी जिला परिषद सदस्यों की समस्याओं का प्राथमिकता से निपटारा करें तथा समस्याओं को निपटाने में लगने वाले समय के बारे में भी सम्बन्धित विभाग अवगत करवाए।
उन्होंने कहा कि विभागीय अधिकारी जिला परिषद सदस्यों के मुद्दों को गम्भीरता से लें। उन्होंने खंड विकास अधिकारियों को ग्राम पंचायतों के सचिवों को कैश बुक में आय व्यय का व्यौरा नियमित रूप से भरने के निर्देश देने को कहा ताकि नए बजट के तहत नए कार्यो को भी प्रारम्भ किया जा सकें।
कुमारी मुस्कान ने जिला परिषद के सभी सदस्यों सहित कहा कि बैठक में कई विभागों के अधिकारी नहीं आते है जिन्हें पूर्व में हुई बैठकों और आज की बैठक के बारे में भी पत्र के माध्यम से सूचित किया गया था। अधिकारियों की अनुपस्थिति पर चिंता व्यक्त की।
जिला परिषद सदस्य गौरव शर्मा ने जल जीवन मिशन के तहत लगाए जा रहे पेयजल के कुनैक्शनों के बारे विस्तृत चर्चा की और कहा कि जल जीवन मिशन के तहत लगाए जा रहे पेयजल के कुनैक्शनों में असहाय और गरीब परिवारों को भी प्राथमिकता में शामिल किया जाए। गौरव शर्मा ने जिला में हो रहे अवैध खनन के बारे में माइनिंग विभाग से और ग्रामीण विकास विभाग से सम्बन्धित प्रश्नो पर चर्चा में भाग लिया।
बैठक में जिला परिषद सदस्य बेली राम ने कल्याण अधिकारी बिलासपुर  द्वारा आवास योजना के तहत सर्वे तथा लाभार्थियों की सूचना बारे पूछे गए प्रश्न के जबाव में जिला कल्याण अधिकारी उर्मिल पटियाल ने बताया कि जिला बिलासपुर में  गत वित वर्ष में इस योजना के अंतर्गत 186 लोगों के आवास स्वीकृत किए गए है जिनका निर्माण कार्य प्रगति पर है। इसके अतिरिक्त उन्होंने लोक निर्माण, जल शक्ति तथा हिमाचल पथ परिवहन निगम से सम्बन्धित विभिन्न प्रश्नों पर भी चर्चा की गई।
जिला परिषद सदस्य मान सिंह ने श्री नैना देवी क्षेत्र के तहत निर्माणाधीन सडकों के कार्यो और दस्तावेजी प्रक्रिया मे हुई प्रगति सहित विभिन्न प्रशनों में भाग लिया। इस पर लोक निर्माण विभाग ने बताया कि कुछ सड़कों के निर्माण हेतु एफ.आर.ए की स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है और कुछ सड़कों के लिए एफ.आर.ए की स्वीकृति प्राप्त होना बाकी है।
जिला परिषद सदस्यों ने सामूहिक रूप से जल शक्ति विभाग की विभिन्न पेयजल योजनाओं में ठेकेदारों के तहत रखे गए कर्मचारियों को समय पर वेतन नहीं दिये जाने बारे भी चर्चा की और विभाग के अधिकारियों को ठेकेदारों को किये जाने वाले भुगतान का ब्यौरा देने के लिए कहा ताकि यह पता चल सके कि ठेकेदार कितना पैसा विभाग से ले रहा है और कितना वेतन कर्मचारी को दे रहा है।
जिला परिषद सदस्य प्रोमिला वसु ने झण्डूता अस्पताल की लैव में खराब पड़े उपकरणों व एक्स रे की सुविधा भी ना मिलने सहित झण्डूता ब्लाक की विभिन्न स्वास्थ्य संस्थानों की दयनीय स्थिति बारे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से चर्चा की तथा इस संबंध उचित कदम उठाने का आग्रह किया।
 बैठक में जिला परिषद के कनिष्ठ अभियंता अनिल कश्यप, पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष दिला राम धीमान तथा पूर्व जिला परिषद सदस्य कमला देवी की दिवांगत आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन भी रखा गया।  
जिला परिषद सदस्य बिमला देवी, शालू रणौत राज कुमार, सत्या देवी ने भी बैठक में हुई चर्चा में भाग लिया।
इस अवसर पर जिला पंचायत अधिकारी शशिबाला, सभी विकास खंडों के बीडीओ सहित जिला के विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे