चैत्र नवरात्रों के दौरान श्री नयना देवी जी में श्रद्धालुओं को उपलब्ध करवाई जाएंगी हर सम्भव सुविधाएं – पंकज राय

बिलासपुर 19 मार्च – उत्तर भारत के प्रसिद्ध शक्तिपीठ श्री नयना देवी जी में 2 अप्रैल से 10 अप्रैल तक चैत्र नवरात्र आयोजित किए जाएंगे। यह जानकारी अध्यक्ष मंदिर न्यास श्री नयना देवी जी एवं उपायुक्त पंकज राय ने चैत्र नवरात्र 2022 के प्रबंधों के लिए आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी।  
उन्होनें कहा कि श्री नयना देवी देवी जी के दर्शनों के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को हर सम्भव सुविधाएं, सुरक्षा, स्वास्थ्य और स्वच्छता इत्यादि उपलब्ध करवाने के लिए जिला प्रशासन व मंदिर न्यास भरपूर प्रयास करेगा ताकि स्थानीय व बाहरी राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पडे।  
उन्होंने चैत्र नवरात्र मेले के लिए एसडीएम स्वारघाट को मेला अधिकारी, डीएसपी श्री नयना देवी देवी जी को मेला पुलिस अधिकारी, नायब तहसीलदार एवं मंदिर अधिकार को सहायक मेला अधिकारी तथा एसएचओ कोट कहलूर को सहायक पुलिस मेला अधिकारी नियुक्त किया।
उन्होनें कहा कि नवरात्रों के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए क्षेत्र में 5 सैक्टर अधिकारी नियुक्त किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि आवश्यकता अनुसार पुलिस कर्मी व होम गाॅर्ड के जवान भी कानून व्यवस्था बनाए रखने में महत्त्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करेंगे।
उन्होने बताया कि यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाए रखने के लिए निर्णय लिया गया है कि घवांडल से गुफा तक कोई भी गाड़ी नवरात्रों के दौरान नहीं भेजी जाएगी केवल परमिट टेक्सियों को ही गुफा तक आने की अनुमति होगी।  
उन्होंने बताया कि चैत्र नवरात्र के दौरान श्री नैना देवी के दर्शनों के लिए आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाने के लिए व्यापक रूप से टैªफिक प्लान बनाया गया है।
उन्होंने कार्यकारी अधिकारी नगर परिषद श्री नयना देवी जी को निर्देश दिए की श्री नयना देवी की समस्त पार्किंगों में निर्धारित रेटों को डिसप्ले करवाना सुनिश्चित करें ताकि किसी भी स्तर पर श्रद्धालुओं से अधिक पैसों की वसूली न की जाए और श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की कठिनाई का सामना न करना पड़े।
उन्होंने कहा कि चैत्र नवरात्रों के दौरान श्रद्धालुओं को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए व्यापक प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए विभिन्न स्थानों पर स्वास्थ्य सहायता कक्ष स्थापित किए जाएंगें। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए की चिकित्सा सहायता कक्षों में आवश्यक जीवन रक्षक दवाइयां एवं ऑक्सीजन सिलेंडर रखना सुनिश्चित करें।
उन्होंने बताया कि नवरात्रों के दौरान सफाई व्यवस्था को सुचारू बनाए रखने के लिए अतिरिक्त सफाई कर्मचारी नियुक्त किए जाएंगे जबकि अन्य विभिन्न कार्यो के निष्पादन हेतु अस्थाई कर्मचारी अपनी सेवाएं देगें। उन्होंने बताया कि जिला एवं खाद्य आपूर्ति विभाग श्री नैना देवी जी समस्त दुकानों की रेट लिस्ट चेक करना सुनिश्चित करेंगे ताकि दुकानदार श्रद्धालुओं से खाद्य पदार्थो के लिए ज्यादा पैसे न बसूलें। उन्होंने कहा कि खाद्य सुरक्षा अधिकारी नवरात्रों के दौरान खाद्य पदार्थों का निरंतर निरीक्षण करना सुनिश्चित करेंगे ताकि श्रद्धालुओं को स्वच्छ भोजन मिल सके।
उन्होंने जल शक्ति विभाग को निर्देश दिए कि मेलों के दौरान श्रद्धालुओं को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए जल भंडारण टैंकों का क्लोरीनेशन कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने यह भी निर्देश दिए की मेले से पहले पेयजल भण्डारण टंकियों को अच्छी तरह से साफ रखें तथा मेले के दौरान पानी की स्वच्छता संबंधी टेस्टिंग भी सुनिश्चित करें।
उन्होंने समस्त अधिकारियों से आहवान किया कि चैत्र नवरात्र 2022 के सफल आयोजन करवाने में कोई भी ढील न बरतें तथा जो भी निर्णय लिए गए है उन्हें पूर्ण रूप से क्रियान्वित करें।
इस अवसर पर एसडीएम स्वारघाट राजकुमार, डीएसपी पूर्ण चंद, नायब तहसीलदार जगदीश कुमार, बीडीओ विवेक पाल, डीएफएससी ब्रिजेन्द्र सिंह पठानिया सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे