केलंग में आज जनजातीय उप योजना के तहत आवंटित बजट की समीक्षा बैठक

तकनीकी शिक्षा एवं जनजातीय विकास मंत्री रामलाल मारकंडा ने आज  केलंग में जनजातीय उप योजना के तहत आवंटित बजट  की समीक्षा  बैठक  की अध्यक्षता की । परियोजना सलाहकार समिति की समीक्षा  बैठक की अध्यक्षता करते हुए उन्होंने कहा कि अटल-टनल रोहतांग के बन जाने से जिले में पर्यटन गतिविधियां बढ़ गयी है। ऐसे में सर्दियों में लाहौल घाटी स्कीईंग  व शीतकालीन खेले आयोजित की जाएगी। साथ ही जिले में क्राफ्ट मेले व लोकनृत्य  प्रतियोगिता का आयोजन कर पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि जनजातीय उप -योजना के तहत कुल बजट का 9 प्रतिशत हिस्सा जनजातीय क्षेत्रो के विकास पर खर्च किया जाता है तथा प्रतिवर्ष इसमें 10 प्रतिशत की वृद्धि की जाती है। इस वर्ष लाहौल मण्डल में ट्राइबल सब प्लान के तहत 72 करोड़ रुपये विभिन्न विभागों के माध्यम से विकास कार्यो पर खर्च किये जा रहे है ।

 मारकंडा ने सभी विभागों को निर्देश दिया कि आबंटित धनराशि को तय समय मे विकास कार्यो में खर्च करे और विकास कार्यो में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखे। उन्होंने कहा कि अगले वर्ष के बजट प्रस्ताव को भी उचित समय पर तथा विकास कार्यों की प्राथमिकता तय करते हुए भेज दें।

साथ ही जिले में सर्दियों के मौसम को ध्यान में रखते हुए आवश्यक वस्तुओं, ईंधन लकड़ी राशन व दवाइयों के पर्याप्त भंडारण व वितरण के निर्देश दिए । 

डॉ मारकंडा ने कहा कि पर्यटन का लाभ किस तरह लोगो को अधिक से अधिक मिले इसके लिये योजना बनाई जा रही है ताकि लोगो की आर्थिकी मजबूत हो।इसी तर्ज़ पर इस वर्ष के स्नो फेस्टीवल का प्रयास संस्कृति को पर्यटन को जोड़ने का रहेगा जिसके लिये केंद्र सरकार की ओर से 90 लाख रुपये स्वीकृत किये गए हैं। 

 डॉ मारकंडा ने  कहा कि लाहौल की खानपान,भेषभूषा व संस्कृति को पर्यटन  से जोड़ा जाएगा।  क्राफ्ट मेला व लोकनृत्य प्रतियोगिता के साथ ही शीतकालीन खेलो को बढ़ावा  देने के राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी।

बैठक में जनजातीय परियोजना अधिकारी मनोज कुमार, सहायक आयुक्त रोहित शर्मा, उपमंडलाधिकारी उदयपुर निशान्त तोमर  सहित अन्य विभागीय ज़िलाधिकारियों की उपस्थिति रही।