कुपोषण से मुक्ति दिलाएगा पोषण पखवाड़ा: नरेंद्र

बिलासपुर (27 मार्च) :- बाल विकास परियोजना सदर बिलासपुर द्वारा खण्ड स्तरीय पोषण पखवाड़ा का आयोजन ग्राम पंचायत घर नमहोल के प्रांगण में किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता  बाल विकास परियोजना अधिकारी सदर नरेंद्र कुमार ने की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि प्रदेश में 21 मार्च से 4 अप्रैल 2022 तक पोषण पखवाड़ा मनाया जा रहा है। पोषण अभियान समग्र रूप से पोषण संबंधी परिणामों में सुधार का प्रयास करता है। उन्होंने कहा कि अभियान के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए व्यक्तिगत तौर पर और समुदायिक स्तर पर व्यवहार परिवर्तन लाना बहुत अहम है।

उन्होंने बताया कि 8 मार्च 2018 में पोषण अभियान की शुरुआत के बाद से प्रत्येक वर्ष मार्च के महीने में सभी सहयोगी मंत्रालयों के सहयोग से पोषण पखवाड़ा मनाया जाता है। इस वर्ष पोषण पखवाड़ा मनाने के लिए दो क्षेत्रों पर प्रमुख रूप से ध्यान देने का फैसला किया है इनमें- स्वस्थ बच्चे की पहचान और स्वस्थ भारत के लिए आधुनिक और पारंपरिक प्रथाओं के एकीकरण पर जोर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि अभियान के तहत पोषण पखवाड़ा में 0 से 6 वर्ष तक के समस्त बच्चों का वजन तथा लम्बाई/ऊंचाई लेकर उनके पोषण श्रेणी का वर्गीकरण किया जाएगा। शिविर में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा पौष्टिक व्यंजनों की प्रदर्शनी लगाई गई तथा गीतों और कविताओं के माध्यम से पोषण के बारे में जागरुक किया गया तथा महिला मंडलों की महिलाओं ने लघु नाटक व गीतों से स्थानीय महिलाओं को पोषण के प्रति संदेश दिया।

कार्यक्रम में ग्राम पंचायत प्रधान नमहोल व पजैल की प्रधान द्वारा 2 महिलाओं की गोद भराई व 2 बच्चों का अन्नप्राशन किया गया। इस अवसर पर  वृत पर्यवेक्षिकांए कांता व कमलेश,  जिला पोषण समन्वयक  रुचिका,  जिला महिला शक्ति केंद्र समन्वयक साक्षी , आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, स्वयं सहायता समूह की महिलाएं, महिला मंडल की सदस्यों ने भाग लिया।