किसी भी क्षेत्र की पहचान होती है उसकी लोक संस्कृति – रेवती सैनी

बिलासपुर 4 मार्च:- श्री नैना देवी माता मंदिर सामाजिक सांस्कृतिक एवं विकास समिति बोह दयोथ जिला बिलासपुर द्वारा भाषा एवं संस्कृति विभाग हिमाचल प्रदेश के संयुक्त तत्वावधान में दो दिवसीय महाशिवरात्रि पर्व का आयोजन किया गया। इस आयोजन में भजन-कीर्तन के अतिरिक्त भजन संध्या का भी आयोजन किया गया।
जिला भाषा अधिकारी बिलासपुर रेवती सैनी ने लोक गायकों का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि किसी भी क्षेत्र की पहचान उसकी लोक संस्कृति से होती है और लोक संस्कृति का संरक्षण करना आज बहुत आवश्यक हो गया है। उन्होंने जिला की सभी संस्थाओं से आग्रह किया कि वह लोक संस्कृति के संरक्षण के लिए आगे आएं और लुप्त हो रही संस्कृति को बचाने में विभाग का सहयोग करें।
कार्यक्रम में भगवान दास एंड पार्टी झंडुत्ता, प्रकाश चंद शर्मा एंड पार्टी देवली, सीता राम एंड पार्टी जंगल झलेडा, लोक चंद एंड पार्टी बोह, निक्का राम एंड पार्टी नाली पलोन, सोनू शर्मा गंढीर आदि लोक गायकों व दलों ने भाग लिया।
 इस अवसर पर लोक गायकों को सम्मानित भी किया गया। समिति के अध्यक्ष सतपाल शर्मा ने सभी कलाकारों और जिला भाषा अधिकारी का धन्यवाद किया।