एक दिन स्वच्छता के नाम’ कार्यक्रम का उपायुक्त पंकज राय ने किया शुभारम्भ….

बिलासपुर 10 मार्च – उपायुक्त पंकज राय ने आज जिला बिलासपुर के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला (छात्रा) के समीप ‘एक दिन स्वच्छता के नाम’ कार्यक्रम का शुभारम्भ किया।  
जिला में आज ‘एक दिन स्वच्छता के नाम’ अभियान आयोजित किया गया। इस अभियान के अंतर्गत जिला की सभी 176 पंचायतों, 4 नगर परिषद और नगर पंचायतों में सफाई अभियान आरम्भ किया गया है। जिला में आयोजित ‘एक दिन स्वच्छता के नाम’ स्वच्छता कार्यक्रम के दौरान आज कुल 684 किलोग्राम कूड़ा एकत्रित किया गया जिसमें 326 किलोग्राम प्लास्टिक कूड़ा एकत्रित किया गया। इस अभियान में जिला के 486 समूहों के 7 हजार 900 सदस्यों ने भाग लिया।
 उपायुक्त कहा कि प्रत्येक माह की 10 तारीख को स्वच्छता अभियान चलाया जाएगा जिसमें सभी अधिकारी, निर्वाचित प्रतिनिधि, पंचायत प्रधान, वार्ड सदस्य, पार्षणगण, व्यापारमंडल बीडीओ तथा अन्य हितधाराकों को जोड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि सफाई अभियान में स्थानीय लोगों की भागीदारी सुनिश्चित की जा रही है ताकि अभियान को सफल बनाया जा सके।
उन्होंने कहा कि स्वच्छता की इस कड़ी को 15 अगस्त, 2021 को ‘खेल-खेल में स्वच्छता का पाठ’ कार्यक्रम के माध्यम से स्कूलों में आरम्भ किया गया है। इसके अंतर्गत अतिरिक्त पाठ्यक्रम कक्षा के दौरान बच्चों को सूखा, गीला, रसायनिक कचरा अलग-अलग करने के साथ ही बच्चों को प्लास्टिक बोतलों से खिलौने, सजावट की सामग्री व अन्य उपयोगी सामान तैयार करना भी सिखाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस अभियान से पूर्व जिला में ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में कूड़ा फैकनें के 200 हाॅट स्पाॅट चिन्ह्ति किए गए है तथा उन्हें साफ करने के लिए छात्रों, अभिभावकों व शिक्षकों का सहयोग लिया जा रहा है।
उन्होंने ‘खेल-खेल में स्वच्छता का पाठ’ कार्यक्रम के अंतर्गत खंड विकास स्वारघाट के राजकीय प्राथमिक पाठशाला दगड़ाहन द्वारा किए गए कार्यों की सराहना की। उन्होंने बताया कि राजकीय प्राथमिक पाठशाला व पूरे दगड़ाहन गांव द्वारा वेस्ट प्लास्टिक से बनाए गए गमलों, ईटों की मदद से गांव की डंपिग साईट को लघु वाटिका में परिवर्तित कर इस कार्यक्रम को सफल बनाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।
उन्होंने कहा कि अभियान के दौरान छात्रों के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखते हुए उन्हें दस्ताने और मास्क पहनाएं गए। उन्होंने सभी स्कूलों के प्रधानाचार्य व शिक्षकों से आग्रह किया कि अभियान के दौरान छात्रों के स्वास्थ्य का पूर्ण ध्यान रखते हुए उचित मास्क, गलब्ज दें और किसी भी दुर्घटना संभावित क्षेत्र में न भेजे।
उन्होंने कहा कि 17 से 23 मार्च तक आयोजित किए जाने वाले नलवाड़ी मेला में स्वच्छता अभियान में उत्कृष्ठ कार्य करने वाले छात्रों और स्कूलों को प्रोत्साहित किया जाएगा। मेले के दौरान स्वच्छता से संबंधित पोस्टर, बैनर, पेटिंग को स्वच्छ भारत मिशन के साथ जोड़कर प्रदर्शित किया जाएगा।
उन्होंने आज जिला की हर पंचायत व कार्यालयों में साफ-सफाई कर लोगों को जागरूकता का संदेश देते हुए इस अभियान में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने का आहवान किया।
उन्होंने उम्मीद जताई की अगर स्वच्छता अभियान इसी गति से बढ़ता रहा तो 6 महीने के अंदर बिलासपुर में स्वच्छता क्रांति लाई जा सकेगी।
कार्यक्रम के दौरान अतिरिक्त उपायुक्त ने जिला परिषद भवन व उसके आस-पास के क्षेत्रों में स्वच्छता अभियान का नेतृत्व करते हुए पंचायती राज संस्था के प्रतिनिधियों के साथ साफ-सफाई की। जिला के सभी उपमंडलों में उपमंडलाधिकारी (ना.) की अध्यक्षता में इस अभियान को आयोजित किया गया।
इस अवसर पर नगर परिषद के अध्यक्ष कमलेन्द्र कश्यम, उपाध्यक्ष कमल गौतम, परियोजना अधिकारी डीआरडीए राजेन्द्र गौतम, कार्यकारी अधिकारी नगर परिषद उर्वशी वालिया, बीडीओ सदर विनय कुमार, महिला महिला, स्वयं सहायता समूह के सदस्य व जन प्रतिनिधि उपस्थित रहे।