अगर व्यापारियों पर हुए मुक़द्दमे दर्ज तो सोलन पहुंचेंगे पूरे भारत के व्यापारी

मंगलावर को सोलन के व्यापारियों ने काले झंडे अपनी दुकानों के बाहर लगाकर सरकार व प्रशासन के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहीर की थी। उसके बाद आनन-फानन मे प्रशासन ने भी उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर दी थी। सोलन के 7 व्यापारियों के खिलाफ ये मामला दर्ज किया गया था। जिसके फलस्वरूप सभी सोलन के सदर थाने मे अपनी गिरफ्तारी देने पहुँच गए। जिनमे कुशल जेठी, विनय शर्मा, पंकज वर्मा, मदन कश्यप, पंकज कत्याल, मनोज गुजराल व मनी साहनी है । शाम हो गई कोई गिरफ्तार भी नहीं हुआ और उच्च अधिकारियों से बातचीत भी हो गई। नतीजा निकला अगर सरकार नहीं झुकी तो पूरे भारत के व्यापारी सोलन आएंगे व सोलन को बंद कर देंगे। ये आहवाहन अब सोला के व्यापार मण्डल का नहीं रह गया ये अब व्यापारियों की मान प्रतिष्ठा का बन गया है।

कौन झुकेगा कौन इस मैदान मे डटा रहेगा ये आने वाले समय मे पता चलेगा लेकिन इतना जरूर है कोरोना कर्फ़्यू रजीनीति का अखाडा जरूर बन गया है।